निधन…कोरोना से बेटी को नहीं बचा सके केंद्रीय मंत्री थावर चंद गहलोत  

ऑनलाइन टीम. नई दिल्ली : देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का कहर जारी है। हर दिन ही बुरे समाचार सामने आ रहे हैं। सोमवार को केंद्रीय मंत्री थावर चंद गहलोत की बेटी योगिता सोलंकी का हार्ट अटैक की वजह से निधन हो गया।  वह कोरोना संक्रमित थीं और मध्य प्रदेश में इंदौर के मेदांता अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। केंद्रीय मंत्री के दफ्तर ने बताया कि करीब 15 दिन पहले वह कोरोना संक्रमित पाई गईं थीं।डॉक्टरों के मुताबिक खून के थक्का बनने की वजह से पैरालिटिक अटैक आया।’

थावर चंद गहलोत के एक करीबी ने बताया कि योगिता की आरटी-पीसीआर रिपोर्ट निगेटिव आई थी लेकिन उनके अंदर कोरोना के लक्षण दिख रहे थे। योगिता का जब सीटी स्कैन किया गया तो पता लगा कि उनके फेफेड़े 90 प्रतिशत तक खराब हो चुके हैं। इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। योगिता की उम्र 44 साल थी। वह एक हाउसवाइफ थीं। उनके पति स्वास्थ विभाग में काम करते हैं। योगिता की एक 23 साल की बेटी और एक 20 साल का बेटा है।

भारत में इस वक्त कोरोना वायरस अपने चरम पर है। हर दिन देश में तीन लाख से अधिक कोरोना के मामले आ रहे हैं, जबकि तीन हजार से अधिक लोगों की जान जा रही है। देश में कोरोना के इस वक्त 34 लाख से ज्यादा एक्टिव केस हैं, जबकि मरने वालों का कुल आंकड़ा दो लाख को पार कर चुका है।

बीते दिन ही दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के पिता का कोरोना के कारण निधन हो गया था। वहीं, बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के भाई का भी बीते दिन कोरोना के कारण निधन हो गया था। हाल ही में बिहार के मुख्य सचिव की भी मौत हो गई। अनेक नामी-गिरामी अभिनेता इसकी गिरफ्त में आकर अपनी जान गवां चुके हैं।

You might also like

Comments are closed.