छत्तीसगढ़ के रायपुर में कोरोना से नर्स की मौत; गर्भावस्था के दौरान भी करती रही मरीजों की सेवा, बच्ची स्वस्थ लेकिन माँ को बचाने में डॉक्टर असफल

रायपुर: ऑनलाइन टीम- कोरोना की वजह से देश में स्थिति गंभीर है। कई परिवार कोरोना की वजह से तबाह हो गए हैं। कोरोना काल में मरीजों की सेवा कर रहीं एक गर्भवती नर्स की आखिरकार मौत हो गई। हालांकि इलाके में उसके द्वारा किए गए कार्यों की सराहना की जा रही है,  लेकिन नवजात बच्चे की मां हमेशा के लिए गुम हो गई है और उसके परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। नवजात शिशु को लेकर हर कोई चिंतित और परेशान है।

बच्चे को जन्म देने के बाद दोनों कोरोना संक्रमित हो गए थे। अच्छी बत यह है कि  डॉक्टर बच्चे को बचाने में सफल रहे, लेकिन वे मां को नहीं बचा सके। उसने अंत तक एक नर्स के रूप में काम किया, लेकिन उसे कोरोना ने अपनी चपेट में ले लिया। यह घटना छत्तीसगढ़ के कवर्धा प्रखंड के लिमो गांव की है।

 गर्भावस्था के दौरान भी किया काम

नर्स के पति भेष कुमार बंजारे ने बताया कि उनकी पत्नी प्रभा गर्भवती होने के बावजूद कोविड वार्ड में काम करती रहीं। वह कवर्धा ब्लॉक के ग्रामीण लिमो में रह रही थी, जबकि उसकी पोस्टिंग प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खैरवार खुर्द लोरमी (मुंगेली) में थी। वह कपाडाह गांव में किराए के कमरे में अकेली रहती थी और वहां से अस्पताल आती-जाती रहती थी।

भेषकुमार ने कहा कि प्रभा को लेबर पेन शुरू होने के बाद 30 अप्रैल को कवर्धा के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सिजेरियन सेक्शन से उसने एक बच्ची को जन्म दिया। अस्पताल में रहने के दौरान उसे बार-बार बुखार आ रहा था। अस्पताल से घर लाए जाने के बाद उसकी हालत बिगड़ गई और उसे खांसी होने लगी। बाद में उसे एंटीजन टेस्ट किया उसमें पॉजिटिव रिपोर्ट आया। उसके बाद उसे कवर्धा के अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालाँकि, ऑक्सीजन स्तर गिरने के कारण उसे रायपुर ले जाया गया,  लेकिन 21 मई को उसकी मृत्यु हो गई।

वह छुट्टी लेने के लिए तैयार नहीं थी

पति ने कहा कि उसने प्रभा को कई बार छुट्टी लेने के लिए कहा था, लेकिन वह तैयार नहीं हुई। उसने कहा कि मैं घर बैठ कर क्या करूंगी? इससे अच्छा कि मैं काम करती रहू। उसने गर्भावस्था के दौरान पूरे 9 महीने अस्पताल में काम किया। जब प्रसव पीड़ा बढ़ गई और उसकी नॉर्मल डिलीवरी नहीं हो रही थी, तो उसे सिजेरियन डिलीवरी के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

एक साल पहले हुई थी शादी

मिली जानकारी के अनुसार रायपुर के धरसिनवा निवासी प्रभा की शादी जून 2020 में लिमो निवासी भेष कुमार के साथ हुई थी। शादी के वक्त भी लॉकडाउन था, दोनों ने कोरोना के तमाम नियमों का पालन करते हुए शादी की थी।

You might also like

Comments are closed.