जम्मू-कश्मीर में डीडीसी चुनाव…भाजपा-गुपकार के बीच टक्कर, प्रदेश की दिशा और दशा होगी तय  

श्रीनगर. ऑनलाइन टीम : जम्मू कश्मीर में जिला परिषद चुनाव के परिणाम प्रदेश की दशा और दिशा तय करने वाले साबित हो सकते हैं। धारा 370 की समाप्ति के बाद वहां के लोगों की मानसिकता साफ नजर आएगी। यह पता चलेगा कि भाजपा ने जो कहा वह सहीं है, या स्थानीय नेता जो कहते हैं वह सही है। बहरहाल, मतगणना मंगलवार सुबह नौ बजे से शुरू हो गई। शुरुआती रुझानों में गुपकार गठबंधन और बीजेपी में कड़ी टक्कर देखने को मिल रही है। मतगणना सुबह नौ बजे से शुरू हुई।

बता दें कि जिला विकास परिषद  की 280 सीटों पर हुए चुनाव में भाजपा के खिलाफ 7 दलों ने गुपकार गठबंधन बनाकर एक साथ चुनाव लड़ा है। गुपकार गठबंधन में नैशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी, पीपल्स कॉन्फ्रेंस, आवामी नैशनल कॉन्फ्रेंस, J&K पीपल्स मूवमेंट के साथ ही सीपीआई और सीपीएम शामिल हैं। शुरुआती रुझानों में गुपकार गठबंधन को 10 सीटों पर बढ़त मिली है। वहीं, बीजेपी 6 सीटों पर आगे चल रही है और कांग्रेस तीन सीट पर और अन्य 5 सीटों पर आगे चल रहे हैं।

बता दें कि जम्मू कश्मीर में जिला विकास परिषद चुनाव में पहले चरण का मतदान 28 नवंबर को हुआ था और 8वें व अंतिम चरण का मतदान 19 दिसंबर को हुआ था। कुल मिलाकर शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुए इन चुनावों में 57 लाख पात्र मतदाताओं में से 51 प्रतिशत ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था।

इस बीच,  पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी  की प्रमुख और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट करके कहा, ‘पीडीपी नेता नईम अख्तर को भी जम्मू-कश्मीर पुलिस ने हिरासत में ले लिया है और उन्हें एमएलए हॉस्टल ले जाया जा रहा है। ऐसा लग रहा है कि बीजेपी डीडीसी परिणामों में हेरफेर करने की योजना बना रही है।

You might also like

Comments are closed.