ईस्टर संडे पर चर्च में उमड़ी भीड़; फादर के खिलाफ मामला दर्ज

पिंपरी। महामारी कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते जिला प्रशासन और राज्य सरकार ने कई कड़े निर्बंध लगाते हुए भीड़भाड़ वाली जगहों को बंद रखने का आदेश दिया है। इसमें सभी धार्मिक स्थल भी शामिल हैं। हालांकि बढ़ते संक्रमण औऱ निर्बंध के बावजूद लोग भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचने की भूमिका नहीं अपना रहे हैं। ऐसे में पुलिस और प्रशासन भी सख्ती से निपटने की तैयारी में है। ताजा मामला पिंपरी चिंचवड़ शहर से हैं, जहां ईस्टर सन्डे पर चर्च में भीड़ जुटने से चर्च के फादर और उसके सहयोगियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।
यह पूरा मामला पिंपरी कालेवाड़ी के राजवाड़ेनगर स्थित जीजस लार्ड मिनिस्ट्री चर्च से जुड़ा है। रविवार को क्रिश्चियन समुदाय का ईस्टर सन्डे त्योहार था। इस उपलक्ष्य में चर्च में भारी भीड़ उमड़ी थी। जबकि महामारी कोरोना के बढ़ते प्रकोप के चलते सभी धार्मिक स्थलों को बंद रखने और किसी भी प्रकार के अनुष्ठान या आयोजन पर रोक लगाई गई है। इसके बावजूद बीते दिन इस चर्च में भीड़ उमड़ी। इसे संज्ञान में लेकर पिंपरी चिंचवड़ की वाकड़ पुलिस ने चर्च के फादर पॉल डेविड सिल्वे और उनके सहयोगियों के खिलाफ कोविड नियमों का उल्लंघन करने के लिए मामला दर्ज किया गया है।
इस बारे में पुलिस सिपाही विठ्ठल सुरनर ने वाकड थाने में शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार राजवाडेनगर, कालेवाडी में जीजस लॉर्ड मिनिस्टरी चर्च में आरोपी फादर और उसके सहयोगियों ने इस्टर संडे के उपलक्ष्य में चर्च में भीड़ जुटाई। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते सार्वजनिक जगहों पर भीड़ जुटाने पर रोक लगाते हुए जमावबंदी लागू की गई है। इसके बावजूद जमावबंदी का उल्लंघन करते हुए महामारी के फैलने के लिए पोषक माहौल तैयार करने की कोशिश की गई। कोविड नियमों का उल्लंघन करने को लेकर फादर और उसके सहयोगियों के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया है।
You might also like

Comments are closed.