लॉकडाउन के बाद रेलवे स्टेशन पर हो रही भीड़, सामान्य लोगो को 30 अप्रैल तक नहीं मिलेंगे प्लेटफॉर्म टिकट

पुणे : कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने पूरे देश को अपनी चपेट में ले लिया है। चारों तरफ हाहाकार मचा हुआ है। ऐसे में एक बार फिर से प्रवासी मजदूर अपने घरों की ओर लौटने लगे हैं, जिसकी वजह से अब ट्रेनों में भी भीड़ देखी जा रही है। वही मध्य रेलवे के द्वारा कई स्पेशल ट्रेन भी चलाए गए हैं। इनमे रिजर्वेशन के बाद आप आसानी से घर पहुंच सकते हैं, लेकिन फिर भी स्टेशन पर भीड़ देखी जा रही है। हालांकि इस बीच मध्य रेलवे ने लोगों से परेशान नहीं होने और रेलवे स्टेशन पर भीड़ नहीं लगाने की अपील की है। साथ ही अब पुणे स्टेशन पर सामान्य लोगों को 30 अप्रैल तक प्लेटफॉर्म टिकट नहीं मिलेगा।

मुंबई पुणे जैसे शहरों से गांव जाने वालो के बहाने भी अलग-अलग हैं। कोई कहता है गर्मी शुरू हो गई है तो किसी के घर में शादी है, ऐसे में जाना जरूरी है। अपने परिवार के साथ छोटे-छोटे बच्चों के साथ लोग सफर कर रहे हैं।

30 अप्रैल तक प्लेटफॉर्म टिकट नहीं

कोरोना महामारी के चलते वर्तमान में स्थिति से निपटने के उपायों तहत पुणे रेल मंडल सभी सम्भव कदम उठा रहा है। स्टेशन तथा ट्रेनों में व्यवस्था बनाए रखने में टिकट चेकिंग, आरपीएफ, टिकट बुकिंग स्टाफ मुस्तैदी से जुटे हुए हैं। पुणे रेल मंडल यात्रियों से अपील   करता है कि स्टेशन पर अनावश्यक भीड़ नहीं करें। पुणे स्टेशन पर वर्तमान में भीड़ को नियंत्रित करने के क्रम में  30 अप्रैल तक सामान्य लोगों को प्लेटफार्म टिकट  नहीं दिए जा रहे हैं। प्लेटफॉर्म टिकट सिर्फ बुजुर्ग, दिव्यांगजन, मरीजों आदि जरूरी लोगों की  मदद करने के उद्देश्य से रु.50/- के दर से  जारी किए जा रहे है।

 इस ट्रेन की सेवा रद्द

तकनीकी  कारणों से विशेष गाड़ी संख्या 01029/01030  कोल्हापुर – मुंबई – कोल्हापुर  कोयना एक्सप्रेस की पांच सेवाएं रद्द की गई है। 18, 20, 22, एवं 24 अप्रैल को  विशेष गाड़ी संख्या 01029  मुंबई – कोल्हापुर कोयना एक्सप्रेस तथा दिनांक 17, 19, 21, 23  एवं 25 अप्रैल को  विशेष गाड़ी संख्या 01030 कोल्हापुर – मुंबई रद्द रहेगी I

You might also like

Comments are closed.