Crime News | छेड़छाड़ का केस ; सप्ताह भर में जांच, 2 दिन चली सुनवाई, 3 वर्ष की सजा

मुंबई (Mumbai news) : Crime News | मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने एक लैंगिक अत्याचार के मामले की जांच केवल एक सप्ताह में पूरी कर कोर्ट (Cort) में चार्जशीट (charge sheet) फाइल की। जबकि कोर्ट ने दो दिन में मामले (Crime News) की सुनवाई कर आरोपी को सजा सुनाई है। आरोपी की गिरफ़्तारी (Arrest) के 20 दिनों में दी गई यह सजा बेहद कम समय में पूरा हुए मामले का रिकॉर्ड बन गया है।

 

18 सितंबर की शाम कार्यालय का कामकाज समाप्त कर एक महिला स का पाटिल गार्डन (S K Patil Garden) में गई। वहां वह बेंच पर बैठकर मोबाइल पर सीए (CA) का क्लास कर रही थी। इसी दौरान उन्हें आफ़स हुआ कि एक व्यक्ति उनके आसपास ही घूम रहा है। वह घबराकर उठ गई और दूसरे बेंच पर जाकर बैठ गई। लेकिन वह व्यक्ति वहां भी आ गया। इतना ही नहीं पेंट का चैन खोलकर महिला की तरफ आने लगा। महिला घबराकर गार्डन के गेट की तरफ भागी। वहां पर उन्हें दो तीन लोग दिखे।

 

महिला ने लोगों की मदद से उस व्यक्ति को पकड़ा और पुलिस (Police) को बुलाया। उसने बताया कि उसका नाम राजकुमार तांडेल (Rajkumar Tandel) है। महिला पुलिस सब इंस्पेक्टर कदम (Police Sub Inspector Kadam) सभी को लेकर एलटी मार्ग पुलिस स्टेशन (L T Marg Police Station) लेकर आई। महिला की शिकायत पर धारा 354 (छेड़छाड़), 354 (अ) (लैंगिक अत्याचार), 354 (डी) (महिला का पीछा करना) के तहत के दर्ज किया गया।

 

सब इंस्पेक्टर पल्लवी जाधव (Sub Inspector Pallavi Jadhav) इस मामले की जांच एक सप्ताह में ही पूरी कर ली और कोर्ट में चार्जशीट (charge sheet) फाइल की। पल्लवी जाधव ने सबूत के तौर पर राजकुमार तांडेल (Rajkumar Tandel) के खिलाफ इससे पहले कफ परेड पुलिस स्टेशन (Cuffe Parade Police Station) में 3 व आजाद मैदान पुलिस स्टेशन (Azad Maidan Police Station) में एक केस दर्ज होने की जानकारी चार्जशीट में दी। अगले पांच दिन में गवाहों के बयान लिए। दूसरे दिन सरकार व आरोपी के वकील की दलील सुनी और उसी दिन कामकाज पूरी होने से पहले राजकुमार तांडेल को 3 वर्ष की सजा सुना दी गई।

 

छेड़छाड़ भारतीय आपराधिक कानून (Molestation Indian Criminal Law) में एक जघन्य अपराध है। यह केवल शरीर पर नहीं बल्कि आत्मा पर वार करता है। कोई भी दवा इसका उपचार नहीं कर सकता है।

 

-यशश्री मारुलकर, महानगर दंडाधिकारी, मुंबई (Yashshree Marulkar, Metropolitan Magistrate, Mumbai)

 

Aryan Khan Drugs Case | आर्यन खान को झटका ; एनडीपीसी कोर्ट से  जमानत याचिका ख़ारिज 

 

Pune Crime | मामूली विवाद में वाइन शॉप मालिक के सिर में मारी शराब की बोतल

You might also like

Comments are closed.