Coronavirus | अगले वर्ष तक मास्क पहनना अनिवार्य, कोरोना की तीसरी लहर को नकारा नहीं जा सकता 

नई दिल्ली, 14 सितंबर : Coronavirus | भारत के कोरोना वायरस के मद्देनज़र नीती आयोग के सदस्य डॉ. वी के पॉल (Dr. VK Paul) ने बयान दिया है।  उन्होंने कहा है कि देश में कोरोना के मरीज बढ़ेंगे और घटती संख्या को देखे तो अगले वर्ष तक मास्क (mask) पहनना पड़ेगा। साथ ही कोरोना (Coronavirus) की तीसरी लहर आने की आशंका को नकारा नहीं जा सकता है।
उन्होंने कहा कि मास्क पहनना फ़िलहाल बंद नहीं होगा।  अगले कुछ समय के लिए या अगले साल तक मास्क पहनना होगा।  क्योंकि कोरोना के खिलाफ लड़ाई केवल अनुशासन, वैक्सीन और प्रभावी दवा से ही जीती जा सकती है।  मुझे विश्वास है कि इस संक्रमण को हम मात दे देंगे।
तीसरी लहर को लेकर पूछे गए सवाल पर कहा कि कोरोना की तीसरी लहर को नकारा नहीं जा सकता है।  उन्होंने कहा कि अगले तीन चार महीने काफी महत्वपूर्ण है।  हमें खुद की रक्षा करने और उद्रेक से बचने की आवश्यकता है।  आगामी त्योहारों में सुरक्षा कम करने को लेकर उन्होंने सावधान किया है. इससे संक्रमण तेज़ी से फ़ैल सकता है।
कोविड प्रोटोकॉल में मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना आदि शामिल है।  मास्क पहनना संक्रमण का सामना करने के लिए सबसे प्रभावी रास्ता माना गया है।  देश में कोरोना की दूसरी लहर ने काफी आतंक मचाया था।  देश में हर दिन रिकॉर्ड कोरोना मरीज दर्ज हो रहे थे।
कोविशील्ड और को-वैक्सीन लेने में दो महीने के बाद एंटी बॉडीज हो जाता है कम 
अब तक देशभर के 75 करोड़ लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज और वर्ष के आखिर तक युवाओं का वेक्सीनेशन पूरा होने की उम्मीद है।  लेकिन एक स्टडी ने चिंता बढ़ा दी है।  जिन लोगों ने कोविशील्ड और को-वैक्सीन ले लिया है उनमे एंटी बॉडीज का स्तर दो तीन महीने में कम होने लगता है।  यह जानकारी आईसीएमआर – प्रादेशिक मेडिकल रिसर्च सेंटर (भुवनेश्वर ) को मिली है।

 

Maharashtra | महाराष्ट्र के वर्धा नदी में नाव पलटने से 11 लोगों की मौत की आशंका

 

You might also like

Comments are closed.