Corona Cases in Pune | पुणे में उपचाराधीन कोरोना मरीजों की संख्या घटी ; 9 महीने के सबसे निचले स्तर पर आया 

 

पुणे, 27 जुलाई : (Corona Cases in Pune) पिछले डेढ़ साल में कोरोना संक्रमण की दो लहरों से देश को तगड़ा झटका लगा है।  इस अवधि में देश के लाखों लोगों ने अपनी जान गंवा दी।  कोरोना संक्रमण (Corona Cases in Pune) की दूसरी लहर में देश की स्थिति काफी विकट हो गई थी।  मेडिकल सुविधाओं (Medical facilities) की कमी की वजह से कई लोगों ने अपने करीबी को आंखों के सामने जान गंवाते देखा है। दूसरी लहर में पुणे (Pune in the second wave) के उपचाराधीन कोरोना मरीजों की संख्या अपने रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई थी।  यह संख्या 54 हज़ार के पार चली गई  थी ।  लेकिन अब इस संख्या में काफी  कमी आ गई है।

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में कुल उपचाराधीन मरीजों की  संख्या पहली बार एक हज़ार के अंदर आ गई है।  फ़िलहाल पुणे शहर में केवल 916 कोरोना मरीजों का उपचार चल रहा है।  यह आंकड़ा पिछले 9 महीने  में सबसे कम है ।  3 नवंबर 2020 को यह संख्या 880 थी। उपचाराधीन मरीजों की संख्या कम होने से पुणे के स्वास्थ्य व्यवस्था पर दबाव कम हुआ है।  कोरोना की दूसरी लहर से शहर पूरी तरह से बाहर निकल आया है।
पुणे शहर में फ़िलहाल एक्टिव कोरोना मरीजों की संख्या ढाई हज़ार के आसपास है।  लेकिन इनमे से 1 हज़ार 726 मरीजों में हल्के लक्षण है।  इसलिए उन्हें होम क्वारंटाइन रखा गया है।  जबकि 916 लोगों का हॉस्पिटल में उपचार चल रहा है।
45 लाख की आबादी वाले पुणे शहर में अब तक कुल 4 लाख 85 हज़ार 855 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके है।  इस तरह से शहर के करीब 10% लोगों को कोरोना हो चुका है।  इनमें से 4 लाख 74 हज़ार 477 लोग कोरोना से पूरी तरह ठीक हो चुके है। अब तक उपचार के दौरान पुणे के 8 हज़ार 736 कोरोना मरीजों की मौत हो चुकी है।  महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण का पहला मरीज 9 मार्च 2020 को मिला था।  इसके बाद दिसंबर तक स्थिति काफी ख़राब हो गई थी।
You might also like

Comments are closed.