आत्महत्या रोकने के लिए ‘कनेक्टिंग’ की पहल

आत्महत्या को रोकने के लिए ‘कनेक्टिंग’ की और से

‘स्टे कनेक्ट’ से निःशुल्क जन जागरूकता
पुणे। महामारी कोरोना के वजह से बढ़ती बेरोजगारी, पारिवारिक तनाव, वित्तीय संकट, कर्जा, सोशल मीडिया का अति प्रयोग, इसके वजह से मानसिक बीमारी ने कई लोगों को आत्महत्या के लिए प्रेरित किया है। कनेक्टिंग एनजीओ ने समय पर काउंसलिंग देकर उन्हें आत्महत्या के इस कठिन रास्ते से बाहर निकालने की कोशिश कर रहे है. ‘स्टे कनेक्ट’ के माध्यम से तनावग्रस्त  लोगों को आत्महत्या की सोच से दूर करने कोशिश की जा रही है. यह ‘डिस्ट्रेस हेल्पलाइन’ पूरी तरह से मुफ्त है.
आत्महत्या को रोकने के उद्देश्य से, 2005 में पुणे में अर्णवाझ दमानिया द्वारा शुरू किए गए ‘कनेक्टिंग ट्रस्ट’ इस एनजीओ के माध्यम से विभिन्न हेल्पलाइन चलाए जाते हैं.  संस्थान के काउंसलर टेलीफोन पर बातचीत करके तनाव को कम करते हैं. ‘डिस्ट्रेस हेल्पलाईन प्रोग्रॅम’, ‘सुसाईड सर्वाइव्हर सपोर्ट सिस्टीम’, ‘पीअर एज्युकेटर्स प्रोग्रॅम’ और ‘अवेअरनेस प्रोग्रॅम’ इन चार पहलों के माध्यम से बातचीत होती है. यह काम पुणे से शुरू हुआ और दिल्ली, हरियाणा, औरंगाबाद, नागपुर, हिंगनघाट, पनवेल तक पहुँचा है.  कनेक्टिंग ट्रस्ट के सीईओ लियान सतारावाला के मार्गदर्शन में काम किया जा रहा है.  पुणे पुलिस, ससून जनरल अस्पताल के सहयोग से ‘सुसाइड सर्वाइवर सपोर्ट प्रोग्राम’ शुरू है.
‘डिस्ट्रेस हेल्पलाइन प्रोग्राम’ के माध्यम से, तनावग्रस्त, व्यथित, उदास और आत्मघाती विचारों वाले लोग फोन पर अपना दुख व्यक्त करते हैं. संस्था के स्वयंसेवक ऐसे लोगों को सुनते हैं. उन्हें किसी भी तरह की सलाह नहीं दी जाती है. साथ ही संबंधित व्यक्ति की जानकारी गोपनीय रहती है. हर कॉल लगभग 45 मिनट तक चलता है. यह उन्हें समझने का एक प्रयास है. भावनात्मक दर्द को दूर करने का प्रयास किया जाता है. [email protected]com इस ईमेल द्वारा भी लोग बातचीत कर सकते है. लॉकडाउन के दौरान, प्रति माह  ईमेल की संख्या 15 से 45 है, जबकि कॉल की संख्या लगभग 160 है.  युवा लोग आत्महत्या करने की अधिक संभावना होती हैं.  घर पर अध्ययन करने वाले छात्रों को  मदद करने के लिए  सहकारी शिक्षक प्रोग्रॅम लागू किया जाता है, ऐसा एक स्वयंसेवक का कहना है.
आप कनेक्टिंग ट्रस्ट के साथ स्वयंसेवक होकर काम कर सकते हैं. जो स्वयंसेवक के रूप में काम करना चाहते हैं, उन्हें संस्था के 9822304220 या 7030230033 इस नंबर पे  संपर्क कर सकते है. अन्यथा  [email protected] इस ईमेल आयडी पे मेल कर सकते है.
आत्महत्या मत करो; यहां संपर्क करें

यदि आप कोई मानसिक तनाव, अवसाद, आत्मघाती विचार आप  में आ रहे है, तो एक बार कॉल करें. हम आपकी सहायता करने के लिए ही हैं. ये सभी सेवाएं मुफ्त हैं. हमारी हेल्पलाइन नंबर मुफ्त हैं. इसलिए 9922004305, 9922001122 पर कभी भी 12 से 8 पर कॉल करें या [email protected]com पर ईमेल करे.
You might also like

Comments are closed.