इस लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने खर्च किए करीब 820 करोड़ रुपए, पहले बताई थी फंड की कमी

समाचार ऑनलाइन – सभी जानते हैं कि लोकसभा चुनाव के दौरान सभी पार्टियाँ पानी की तरह पैसा बहाती हैं. हर पार्टी और उसका नेता जनता तक पहुंचने के लिए खूब प्रचार-प्रसार करता है, जिसमें पैसा अहम भूमिका निभाता है. हाल ही में आम चुनाव के दौरान विभिन्न पार्टियों द्वारा खर्च हुए फंड्स का ब्योरा सामने आया है.

कांग्रेस ने आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, तेलंगाना, ओडिशा और सिक्किम में विधानसभा चुनावों पर लगभग 820 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किए हैं. वहीं चुनावों की घोषणा से लेकर प्रक्रिया खत्‍म होने तक कांग्रेस ने कुल 856 करोड़ रुपये खर्च किए हैं. इसमें प्रचार पर खर्च हुई राशि 626.3 करोड़ रुपए तथा उम्‍मीदवारों पर 193.9 करोड़ रुपए शामिल है. कांग्रेस द्वारा 31 अक्‍टूबर को चुनाव आयोग के सामने यह डिटेल्‍स सौंपी गई थी.

हालांकि यह आंकड़े सामने आने के बाद विपक्षी पार्टियों द्वारा कांग्रेस की घेराबंदी की जा रही है, जिसका कारण पहले कांग्रेस द्वारा फंड्स की कमी बताया जाना है. बता दें कि कांग्रेस काफी समय से जता रही थी कि उनके पास पर्याप्त फंड नहीं है और वह चंदे से चुनाव के लिए फंड इकट्ठा करेगी. लेकिन सामने आए इन आंकड़ों ने कांग्रेस के दावों की पोल खोल दी है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार साल 2014 के आम चुनाव में कांग्रेस द्वारा चुनाव पर 516 करोड़ रुपये खर्च किए गए थे, जो पहले से कई अधिक है.

वहीं बीजेपी ने अभी तक चुनाव खर्च का ब्योरा पेश नहीं किया है. हालाँकि बीजेपी द्वारा साल 2014 के चुनाव प्रचार में 714 करोड़ रुपये का खर्च किए गए थे.

इन दो बड़ी पार्टियों के अलावा अन्य पार्टियों की बात की जाए तो लोकसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस ने 83.6 करोड़ रुपये, बहुजन समाज पार्टी ने 55.4 करोड़ रुपये, NCP ने 72.3 करोड़ रुपये तथा 73.1 लाख रुपये खर्च किए.

 

Comments are closed.