Loading...

आगामी महानगरपलिका चुनाव को लेकर कांग्रेस और शिवसेना आमने-सामने? शिवसेना ने कांग्रेस को दी चेतावनी

Loading...

मुंबई : आने वाले महानगरपलिका चुनाव को लेकर कांग्रेस और शिवसेना में घमासान मचा हुआ है। इसमें स्थायी समितीचे अध्यक्ष यशवंत जाधव ने कांग्रेस पर सीधा निशाना साधा है। उन्होंने कहा विपक्ष के नेता रवि राजा शिवसेना पर जिस तरह आरोप लगा रहे हैं। वह कहीं न कहीं कांग्रेस को भाजपा के पक्ष में करने का काम कर रहे है।

Loading...

यशवंत जाधव ने कहा कि विपक्षी नेता मीडिया के सामने गलत बयान दे रहे है। विपक्ष के नेता इस समय दुविधा में हैं और सवाल यह है कि उन्हें किसकी बात सुननी चाहिए, कांग्रेस के मुंबई अध्यक्ष या प्रदेश अध्यक्ष की? मंत्री या पालकमंत्री मंत्री की सुनें। इस दुविधा में विपक्षी नेता हैं। हमने पिछला चुनाव अपने दम पर लड़ा था, इसलिए हम जानते हैं कि चुनाव कैसे लड़ना है। इस पर उन्होंने कांग्रेस को चेतावनी दी है।

Loading...

उन्होंने कांग्रेस से पूछा को उन्हें किसका साथ देना चाहिए। कांग्रेस ने कोविड के फंड को रोकने के लिए भाजपा के साथ काम किया है। विपक्ष के नेता बेबुनियाद और झूठे आरोप लगा रहे हैं। कोविड का संकट अभी भी जारी है और ऐसे में धन की आवश्यकता है। लेकिन, कांग्रेस ने भाजपा की स्थिति का समर्थन किया। यशवंत जाधव ने कांग्रेस से कहा कि जब संकट खत्म नहीं हुआ था, तब इस पर का स्टैंड लेना उचित नहीं था।

सचिव विभाग ने पूर्व सूचना दिए बिना सामान्य निकाय की बैठक में भाग नहीं लेने के लिए कांग्रेस के नगरसेवक कमरजहॉ सिद्धीकी को नोटिस भेजा है। हालांकि, कांग्रेस ने इसके लिए स्थायी समिति के अध्यक्ष यशवंत जाधव को दोषी ठहराया है। सिद्धिकी मुंबई के संरक्षक मंत्री असलम शेख की भतीजी हैं। रवि राजा ने आरोप लगाया कि यह कांग्रेस के खिलाफ एक साजिश थी और स्थायी समिति के अध्यक्ष के दबाव में किया जा रहा था।

Loading...

Comments are closed.