उत्तराखंड में चार धाम यात्रा की अनुमति, जानें कौन जा सकते हैं…

ऑनलाइन टीम- देश में कोरोना संक्रमण के मामले दिन-ब-दिन कम होते जा रहे हैं। कई राज्यों में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसलिए कोरोना की स्थिति को देखते हुए पाबंदियों को चरणबद्ध तरीके से हटाया जा रहा है। इस बीच उत्तराखंड सरकार ने चार धाम यात्रा शुरू करने का फैसला किया है। यह जानकारी राज्य के कैबिनेट मंत्री और सरकार के प्रवक्ता सुबोध उनियाल ने दी। साथ ही  करोना के हालात को देखते हुए 22 जून तक राज्य में कर्फ्यू लगाने का फैसला किया गया है। उनियाल ने कहा कि कर्फ्यू मंगलवार (15 जून) को सुबह छह बजे समाप्त होगा।

उनियाल ने कहा कि इस अवधि के दौरान कुछ बदलावों के साथ पुराना मानकीकृत ऑपरेटिंग सिस्टम (एसओपी) बना रहेगा। जिन जिलों में चारधाम है। उस जिले के निवासियों को निगेटिव RTPCR कोविड टेस्ट रिपोर्ट के साथ मंदिर में जाने की अनुमति दी गई है।

“आरटीपीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट के कारण, चमोली जिले के निवासी रुद्रप्रयाग जिले के बद्रीनाथ धाम, केदारनाथ और उत्तरकाशी जिले के गंगोत्री और यमुनोत्री के दर्शन करेंगे। शादियों और अंतिम संस्कार में शामिल होने वाले लोगों की संख्या 20 से बढ़ाकर 50 करने का भी फैसला किया गया है। शादी में शामिल होने वालों के लिए RTPCR कोविड परीक्षण रिपोर्ट अनिवार्य है, ऐसा उनियाल ने कहा।

सुबोध उनियाल ने कहा कि इसके अलावा सप्ताह में पांच दिन मिठाई की दुकानें भी खुलेंगी। सरकार ने यह फैसला इसलिए लिया क्योंकि दुकानदार मिठाइयां खराब हो रही थी। कर्फ्यू के दौरान टेंपो और ऑटो चलते रहेंगे। लंबित राजस्व मामलों को निपटाने के लिए 20 व्यक्तियों की सीमित संख्या में राजस्व न्यायालय स्थापित करने का भी निर्णय लिया गया है।

 72 दिनों में सबसे कम कोरोना मरीज का रिकॉर्ड

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में लगातार सातवें दिन एक लाख से भी कम मरीज दर्ज किए गए हैं। देश में कुल एक्टिव मरीजों की संख्या घटकर दस लाख से भी कम हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में कोरोना के 70,421 नए मरीज मिले हैं और 3,921 मरीजों की मौत हुई है। वहीं 1 लाख 19 हजार 501 मरीज कोरोना पर काबू पा चुके हैं। यानी वीकेंड पर 53,001 एक्टिव मरीज कम हुए हैं। इससे पहले 30 मार्च को 53,480 मरीज रजिस्टर हुए थे।

You might also like

Comments are closed.