Chandrakant Patil | ईडी का सामना करने में मुश्किल होती है, हसन मुश्रीफ को चंद्रकांत पाटिल ने दिया जवाब

पुणे (Pune News) – Chandrakant Patil | बीजेपी नेता किरीट सोमैया (Kirit Somaiya) ने एक बार फिर ग्रामीण विकास मंत्री हसन मुश्रीफ (Hassan Mushrif) पर 100 करोड़ रुपये के घोटाले का पर्दाफाश करने का आरोप लगाया है।  इसके बाद हसन मुश्रीफ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर किरीट सोमैया और चंद्रकांत पाटिल (Chandrakant Patil) पर गंभीर आरोप लगाए। उसके बाद बीजेपी (BJP) के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल (BJP State President Chandrakant Patil) ने भी हसन मुश्रीफ के आरोपों पर जवाब दिया है।

चंद्रक्रांत पाटिल ने कहा है कि पिछले 24 घंटे में सरकार की तानाशाही चल रही थी। यह दृश्य पुरे महाराष्ट्र (Maharashtra) ने देखा। चंद्रकांत पाटिल ने हसन मुश्रीफ पर मेरा नाम लिए बिना सो नहीं पाने का भी आरोप लगाया है। कानून की लड़ाई कानून से लड़ो, कोल्हापुरी चैपल के साथ कानून की लड़ाई मत लड़ो। कोल्हापुरी की चप्पल दिखाना आसान है, लेकिन ईडी (ED) का सामना करना मुश्किल है। उन्होंने यह भी कहा कि पश्चिमी महाराष्ट्र में भाजपा (BJP) मजबूत है। हसन मुश्रीफ को मेरी चिंता छोड़ दे।

चंद्रकांत पाटिल (Chandrakant Patil) ने कहा- मुश्रीफ साहब, आप आरोप लगा रहे हैं कि हम पश्चिमी महाराष्ट्र से कोल्हापुर तक खत्म हो गए। पश्चिमी महाराष्ट्र में केवल कोल्हापुर (Kolhapur) ही नहीं आता। सोलापुर में बीजेपी के सिर्फ दो विधायक थे अब 8 हो हैं।

बात करें कि जिन कंपनियों को फैक्ट्रियों में 98 करोड़ रुपये मिले, वे कहां हैं। बात करें उन कंपनियों ने कोलकाता से सेनापति घोरपड़े कारखाने में कैसे निवेश किया। इसलिए मैं मुशरिफ से शांत दिमाग से काम करने की अपील करना चाहता हूं, ऐसा चंद्रकांत पाटिल ने कहा। चंद्रकांत पाटिल ने साफ तौर पर कहा है कि अगर हमारे रडार पर किसी मंत्री का दामाद नहीं है तो भ्रष्टाचार है।

चंद्रकांत पाटिल की प्रेस कांफ्रेंस की अहम बातें –

मेरे खिलाफ मानहानि का मुकदमा करो।

मुशरिफ, कानून से लड़ो।

साथ ही मैंने सीएम से कहा था कि गृह विभाग एनसीपी को न सौंपें। यह जो हो रहा है उसका परिणाम है।

कोल्हापुर कलेक्टर का कहना है कि सोमैया की जान को खतरा है। फिर वे क्या करते हैं।

यह सरकार पैसा भी नहीं दे सकती। पूरी सिस्टम एक गड़बड़ है।

उनका सीपी दो महीने से लापता है।

मुझे नहीं लगता कि शरद पवार इस मामले में मुशरिफ का समर्थन करेंगे।

बंटी पाटिल मुश्रीफ की तरफ से क्यों नहीं बोलता।

 

मुशरिफ को चप्पल दिखाना बंद कर देना चाहिए। ईडी के नोटिस का जवाब दे।

मैं इतना बड़ा नहीं हूं कि मुशरिफ के खिलाफ साजिश कर सकूं।

हसन मुशरिफ का भ्रष्टाचार मनी लॉन्ड्रिंग का एक रूप है।

मुशरिफ मनी लॉन्ड्रिंग में आम लोग शामिल होते हैं। उन्हें पुलिस द्वारा संरक्षित किया जाना चाहिए। राज्यसभा के लिए बीजेपी के

 

उम्मीदवार संजय उपाध्याय होंगे। पार्टी का एक महासचिव है।

हम किसी भी जांच के लिए तैयार हैं। लेकिन भीड़ डरने वाली नहीं है।

 

 

Sanjay Raut | हम डरपोक नहीं है, हम झुकेंगे नहीं, किरीट सोमैया के आरोप के बाद संजय राऊत की प्रतिक्रिया

Maharashtra | पुरुषार्थ दिखाकर चंद्रकांत पाटिल चुनाव लड़ें; मुश्रीफ का पलटवार

You might also like

Comments are closed.