Chandrakant Patil | शरद पवार कच्चे गुरु के चेले नहीं, चंद्रकांत पाटिल का पलटवार (वीडियो)

नागपुर (Nagpur News) : Chandrakant Patil | राष्ट्रवादी कांग्रेस के अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) ने कहा है कि  केंद्र सरकार (Central Government) ने सत्ता स्थापित करने का ऑफर दिया था।  उनके इस बयान पर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल (Chandrakant Patil) ने पलटवार किया है।  राष्ट्रवादी को ‘ नाचे न जाने आंगन टेढ़ा’ से संबोधित करते हुए कहा कि शरद पवार केंद्र से मिले ऑफर को स्वीकार नहीं करे इतने कच्चे गुरु के चेले नहीं  है।  यह बयान उन्होंने नागपुर (Nagpur) में दिया है।
शरद पवार (Sharad Pawar) ने कहा था कि हमारे पास केंद्र की भाजपा (BJP) दवारा सत्ता के लिए ऑफर आया था। लेकिन हमने स्वीकार नहीं किया। इसलिए जांच एजेंसियों दवारा राष्ट्रवादी कांग्रेस (Nationalist Congress) को परेशान किया जा रहा है।  इस पर पत्रकारों दवारा पूछे गए सवाल पर भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल (BJP State President Chandrakant Patil) ने कहा कि केंद्र से कोई ऑफर नहीं आया है।  शरद पवार इतने कच्चे गुरु के चेले नहीं है।  केंद्र  के साथ महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार बनाने को वे  प्राथमिकता देते।

 

 

उन्होंने राज्य में कोयले की कमी के लिए ऊर्जामंत्री डॉ. नितिन राऊत (Energy Minister Dr. Nitin Raut) को जिम्मेदार माना है।  केंद्र सरकार (Central Government) के अधिकार क्षेत्र वाला कोल इंडिया (Coal India) देश के बिजली प्रोजेक्ट (Electricity Project) में कोयले की कमी और वैकल्पिक किल्लत के लिए जिम्मेदार है और इस मामले में भाजपा के नेता भ्रम फैला रहे है ।  इस तरह के शब्दों में ऊर्जा मंत्री डॉ. नितिन राऊत ने केंद्र की भाजपा सरकार (BJP Government) पर हमला बोला था ।

 

इस पर चंद्रकांत पाटिल (Chandrakant Patil) ने कहा कि ऐसा कहा जा रहा है कि केंद्र ने कोयला (Coal) नहीं दिया इसलिए बिजली (Electricity) का कम उत्पादन हो रहा है।लेकिन ये नहीं बताएंगे कि केंद्र ने कहा था कि बारिश के कारण कम कोयला मिलेगा। समय पर स्टॉक करे लेकिन हमने नहीं किया।  यह बात सरकार नहीं बताएगी। पवार इन सब के गुरु होने की वजह से उनके शिष्यों के साथ कुछ भी हो उसका दोष केंद्र सरकार पर लगाकर मुक्त हो जाते है।

 

You might also like

Comments are closed.