नौवीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए सीबीएसई ने काउंसेलिंग ऐप लॉन्च किया, जानें खास बातें

ऑनलाइन टीम. नई दिल्ली : कोरोना के इस दौर में पढ़ाई बुरी तरह बाधित हुई है। स्कूल-कॉलेज बंद हैं। दोस्तों के बीच हर बात शेयर करने की मंशा घरों में कैद है। घरवाले भी संक्रमण के कारण रिस्क नहीं लेना चाहते। परिणाम यह है कि बच्चे ज्यादातर मोबाइल से चिपके रहते हैं। वर्चुअल दुनिया में वे खोए से रहते हैं। इस  देखते हुए सीबीएसई ने नौवीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए काउंसेलिंग ऐप लॉन्च किया है। इस काउंसेलिंग ऐप का नाम है : दोस्त फॉर लाइफ। अधिकारी ने बताया कि ऐप का उद्देश्य विद्यार्थियों के साइको सोशल वेलनेस में सुधार करना है।

सीबीएसई का मानना है कि पिछले वर्ष से स्कूल-कॉलेज बंद हैं और परीक्षाएं रद्द कर दी गयी है। विद्यार्थी व अभिभावक महामारी के बीच मानसिक, शारीरिक और आर्थिक तनाव झेल रहे हैं।  तनाव की इस स्थिति में यह काउंसेलिंग ऐप उनकी मदद करेगा।  परीक्षाओं की चिंता, इंटरनेट एडिक्शन डिसऑर्डर, अवसाद और स्पेसिफिक लर्निंग डिसएबिलिटी को दूर किया जायेगा।
इस ऐप के माध्यम से सीबीएसई  फ्री में लाइव काउंसेलिंग सेशन आयोजित करेगा़ 83 वॉलिंटियर्स जुड़े हुए हैं। इनमें 66 भारत में हैं। काउंसेलिंग सेशन सप्ताह में तीन दिन सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को होगा। स्लॉट सुबह 9.30 बजे से लेकर दोपहर 1.30 और दोपहर 1.30 बजे से लेकर शाम 5.00 बजे तक निर्धारित है। विद्यार्थी और अभिभावक काउंसलिंग में चैट बॉक्स के माध्यम से जुड़ सकेंगे।

सीबीएसई फॉर दोस्त फॉर लाइफ ऐप गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है। इसे किसी भी एंड्रायड फोन पर आसानी से डाउनलोड किया जा सकता है। सीबीएसई ने सोमवार से वार्षिक काउंसेलिंग प्रोग्राम शुरू भी कर दिया है। ऐप पर शैक्षणिक, सोशल, इमोशनल और व्यवहार संबंधी सामग्री भी मौजूद हैं। ऐप में कई फीचर होंगे, जिनमें काउंसेलिंग सेशन, एक्सपर्ट एडवाइस, 12वीं के बाद क्या कोर्स करें, मेंटल स्वास्थ्य संबंधी टिप्स और कोविड-19 संबंधी ऑडियो-वीडियो प्रोटोकॉल शामिल हैं।

You might also like

Comments are closed.