तोड़फोड़ से आतंक मचानेवाले गिरोह पर डकैती व हत्या की कोशिश के मामले दर्ज 

संवाददाता, पिंपरी। “हम यहां के दादा हैं, अगर किसी में हिम्मत है तो सामने आए,” इन शब्दों में ललकारते हुए एक गिरोह ने तोड़फोड़ मचाते हुए पिंपरी चिंचवड़ के दत्तनगर, चिंचवड परिसर में आतंक फैलाया। मंगलवार की शाम पौने छह बजे के करीब हुई इस वारदात से पूरे इलाके में ख़ौफ़ व्याप्त है। पिंपरी पुलिस के इस गैंग के खिलाफ तोड़फोड़, डकैती कि हत्या की कोशिश जैसे गंभीर धाराओं के तहत मामला दर्ज कर 8 लोगों को गिरफ्तार किया है।
राहूल कांबले, मुकुल कांबले, सोन्या कांबले, सुशांत ऊर्फ दाद्या शिंदे, मोहसीन शेख, स्वप्नील कांबले, हृषीकेश महारनोर, नवनाथ शिंदे, सोहम सरोदे, सुजल सूर्यवंशी, यश गरड, राहुल कसबे, सौरभ भालेराव, ओंकार शिंदे, नीलेश उजगरे, राजूल शेलार आणि इतर (सभी निवासी दत्तनगर, चिंचवड, पुणे) ऐसे मामला दर्ज किए गए आरोपियों के नाम हैं। उनके खिलाफ प्रशांत रघुनाथ टकले (23, निवासी दत्तनगर, चिंचवड, पुणे) ने शिकायत दर्ज कराई है। देर रात तक धरपकड़ कर पिंपरी पुलिस ने राहुल, सुशांत, स्वप्निल, ऋषिकेश, राहुल कसबे, ओंकार, सौरभ, नीलेश नामक आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, मंगलवार की शाम आरोपियों ने घातक हथियारों और सीमेंट ब्लॉक, पत्थरों से तोड़फोड़ करते हुए इलाके में दहशत फैलाई। घरों के बाहर रखे ड्रम और दूसरी वस्तुओं की तोड़फोड़ की। उनके डर से लोगों ने घरों के दरवाजे, खिड़की बन्द कर लिए। शोरगुल सुनकर जब प्रशांत बाहर आये तब उनके साथ गालीगलौज करते हुए कोयते से हमला किया। हालांकि निशाना चुकाने से उसका वार दरवाजे पर लगा। इसके बाद आरोपियों के खिलाफ दूसरी शिकायत दर्ज कराने वाले आदेश परशुराम शिंदे (19, निवासी दत्तनगर, चिंचवड), जो घर के बाहर खड़े थे उनसे गालीगलौज की। हमारे भाई के खिलाफ़ शिकायत दर्ज कराते हो अब हिम्मत है तो बाहर निकलो कहकर उनसे मारपीट की और उनके गले से सोने की चेन छीन ली।
You might also like

Comments are closed.