फर्जी एफडीआर प्रकरण में 5 ठेकेदारों के खिलाफ मामला दर्ज

शिवसेना सांसद श्रीरंग बारणे ने मनपा आयुक्त पर लगाया कार्रवाई में ढिलाई का आरोप
पिंपरी। ठेका हासिल करने के लिए फर्जी एफडीआर और बैंक गारंटी देकर पिंपरी चिंचवड़ मनपा के साथ धोखाधड़ी करने के मामले में अंततः ठेकेदारों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का सिलसिला शुरू हो गया है। अब तक पांच ठेकेदारों के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज किया गया है। हालांकि अब तक 18 ठेकेदारों के नाम सामने आने के बाद केवल पांच ठेकेदारों के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज किया गया है। इसको लेकर शिवसेना सांसद श्रीरंग बारणे ने बुधवार को एक संवाददाता सम्मेलन के जरिए मनपा प्रशासन खासकर मनपा आयुक्त श्रावण हार्डिकर पर निशाना साधा है। उन्होंने आरोप लगाया कि कार्रवाई में ढिलाई और मनपा में लापरवाह कामकाज एवं भ्रष्टाचार के लिए मनपा आयुक्त जिम्मेदार है।
मनपा में ठेका हासिल करते वक्त संबंधित ठेकेदार को एफडीआर और बैंक गारंटी पेश करना होता है। कुछ ठेकेदारों ने फर्जी एफडीआर और बैंक गारंटी देकर मनपा से करोड़ो रूपये के ठेके हासिल किए जाने की जानकारी सामने आयी है। इस गोलमाल की ओर भाजपा विधायक लक्ष्मण जगताप और राष्ट्रवादी कांग्रेस के विधायक अण्णा बनसोडे ने मनपा आयुक्त का ध्यानाकर्षित कर इस मामले की जांच की मांग की थी। इसके अनुसार आयुक्त ने जांच के आदेश दिए, अब तक की जांच में स्थापत्य विभाग के ठेके हासिल करने के लिए 18 ठेकेदारों द्वारा फर्जी एफडीआर और बैंक गारंटी दिए जाने की पुष्टि हुई। इन ठेकेदारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज करने की मांग कई दिनों से जोर पकड़ रही थी। आखिरकार पांच ठेकेदारों के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज किया गया। इन ठेकेदारों ने फर्जीवाड़ा के जरिये मनपा से 52 ठेके हासिल किए हैं, ऐसा सामने आया है।
जिन ठेकेदारों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए हैं उनमें पाटिल एंड एसोसिएट के मालिक सुजित सूर्यकांत पाटिल (26, निवासी भोसरी), कृति कंस्ट्रक्शन के मालिक विशाल हनुमंत कु-हाडे (29, निवासी पिंपरी, पुणे), एसबी सवई के मालिक संजय बबन सवई (निवासी चिंचवड़, पुणे), वैदेही कंस्ट्रक्शन के मालिक दयानन्द जीवन मलगे (47, निवासी भोसरी, पुणे), डीडी कंस्ट्रक्शन के मालिक दिनेश मोहनलाल मेवानी (28, निवासी पिंपरी, पुणे) का समावेश है। उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 465, 467, 468, 471 के तहत मामला दर्ज किया गया है। इनमें से पाटिल असोसिएट ने 29 जनवरी 2019 से 19 जनवरी 2020 के बीच ठाणे जनता बैंक के एफडीआर देकर 5 ठेके हासिल किए हैं। कृति कंस्ट्रक्शन ने 24 दिसंबर 2019 से 23 अक्टूबर 2020 तक ठाणे जनता बैंक के फर्जी एफडीआर देकर चार, एसबी सवई ने सात, वैदेही कन्स्ट्रक्शन ने 9 अक्टूबर 2018 से 23 अक्टूबर 2020 के बीच बैंक ऑफ महाराष्ट्र का फर्जी एफडीआर देकर 12 ठेके हासिल किये हैं। जबकि डीडी कंस्ट्रक्शन ने पंजाब नेशनल बैंक का फर्जी एफडीआर देकर 27 जून 2019 से 26 नवंबर 2020 तक 24 ठेके हासिल किए हैं।
You might also like

Comments are closed.