शिवसेना राम जन्मभूमि को लेकर अपनी भूमिका छोड़ सकती है क्या?

चंद्रकांत पाटील ने किया सवाल

पंढरपुर में की भगवान विठ्‌ठल की शासकीय पूजा

 पुणे : समाचार ऑनलाइन – राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटील ने शुक्रवार को पंढरपुर में कहा कि शिवसेना कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के साथ जाकर राम जन्मभूमि और सावरकर के प्रति होनेवाली अपनी भूमिका छोड़ सकेगी क्या? यह कहकर पाटील ने शिवसेना को भाजपा के अलावा दूसरा विकल्प नहीं होने की बात बताने की कोशिश की।

कार्तिकी एकादशी के उपलक्ष्य में पाटील ने पंढरपुर में भगवान विठ्‌ठल की पत्नी के साथ शासकीय पूजा की। उसके बाद पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में राज्य की जनता ने जनादेश देने के बावजूद भी सरकार स्थापन नहीं हो पा रही है इसका दुख है। साथ ही भाजपा के वरिष्ठ और श्रेष्ठ नेताआंे पर भी टिप्पणियां की जा रही है इसका भी दुख है। यह कहकर पाटील ने शिवसेना और संजय राऊत पर नाम ना लेते हुए निशाना साधा। साथ ही उन्होंने सवाल किया कि शिवसेना कांग्रेस, राकांपा के साथ जाकर राम जन्मभूमि तथा सावरकर के प्रति होनेवाली अपनी भूमिका छोड़ सकती है क्या?

सरकार बनाने के सवाल पर पाटील ने कहा कि किसी भी पार्टी के विधायक तोड़ना यह हमारी संस्कृति नहीं है। इसलिए जो नेताएं हमारे साथ आए हैं वे महज विकास की दूरदृष्टि सामने रख आए हुए हैं। राज्य मंे बनी हुई राजनीतिक स्थिति टेंपपरी फेज है। जल्द से जल्द से सत्ता स्थापना का प्रश्न सुलझ जाएगा ऐसा विश्वास भी पाटील ने व्यक्त किया।

राज्य में बाढ़, गैरमौसमी बारिश के कारण किसानों का काफी नुकसान हुआ है। प्रकृति का चक्र बदला हुआ है। इसलिए भगवान विठ्‌ठल से प्रार्थना की है कि इस संकट का सामना करने के लिए किसानों तथा जनता को शक्ति दें।

Comments are closed.