BUDGET 2019: बैंकिंग सेक्टर में हुईं ये घोषणएं

नई : समाचार ऑनलाइन – मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में आज बजट पेश कर रही है। मोदी सरकार 2.0 का यह पहला बजट है। बजट के दौरान निर्मला ने बड़ा एलान किया है। जिसमें अगले 5 वर्षों में इंफ्रास्ट्रचर में 100 लाख करोड़ का निवेश किया जाएगा। लोन देने वाली कंपनियों को आरबीआई कंट्रोल करेगी।

Live Budget –
– NPA में 1 लाख करोड़ की गिरावट। बैंकों ने 4 लाख करोड़ की रिकॉर्ड रिकवरी की। सरकारी बैंकों को 70 हजार करोड़ रुपए मिलेंगे। सरकारी बैंकों की संख्या घटाकर 8 की जाएगी। 6 सरकारी बैंकों की हालत में सुधार किए। बैंकिंग क्षेत्र में वित्तीय सुधार का असर दिखा। क्रेडिट ग्रोथ 13.8% बढ़ी।

– सरकारी बैंको को 70 हज़ार करोड़ की मदद। बैंकिंग को हर दरवाजे तक पहुचायेंगे। सरकार हाउसिंग बैंक के रेगुलेशन को नेशनल हाउसिंग बैंक से हटाकर रिजर्व बैंक को देगी। इनका नया रेगुलेटर रिजर्व बैंक होगा। PFRDA नेशनल पेंशन सिस्टम को रेगुलेट करता है। एनपीएस ट्रस्ट को PFRDA से अलग किया जाएगा।

– अगले 5 वर्षों में इंफ्रास्ट्रचर में 100 लाख करोड़ का निवेश किया जाएगा। लोन देने वाली कंपनियों को आरबीआई कंट्रोल करेगी। सरकार ने फैसला किया है वो सरकारी कंपनियों में अपनी 51 फीसदी हिस्सेदारी के नियम की समीक्षा करेगी। सरकारी कंपनियों का विनिवेश जारी रहेगा। एयर इंडिया का विनिवेश होगा। 1, 2, 5,10 और 20 रुपए के नए सिक्के आएंगे।

You might also like

Comments are closed.