महाराष्ट्र में अब ब्लैक फंगस का कहर! ब्लैक फंगस से 90 की मौत, 1500 मरीज एक्टिव

मुंबई : ऑनलाइन टीम – देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर जारी है। संक्रमण के नए मामलों में भले ही कमी आयी है। लेकिन, मौत के आकंड़े डरावना है। इस बीच महाराष्ट्र से एक और खतरे की खबर आ रही है। दरअसल राज्य में अब ब्लैक फंगस का खतरा बढ़ रहा है। म्यूकरमाइकोसिस यानी ब्लैक फंगस इंफेक्शन से अब तक 90 लोगों की मौत हो चुकी है।

महाराष्ट्र में ब्लैक फंगस से 90 की मौत –
वहीं महाराष्ट्र में ब्लैक फंगस के फिलहाल 1500 मरीज हैं। महाराष्ट्र के जन स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बुधवार को ये जानकारी दी। ब्लैक फंगस इंफेक्शन के मामले पिछले साल कोरोना वायरस संक्रमण की शुरुआत में भी आए थे। लेकिन, कोरोना की दूसरी लहर में ये ज्यादा देखने में आ रहा है। इसका खतरा ज्यादातर वैसे मरीजों को जिनको डायबिटीज हैं और कोविड भी हो गया है। टोपे ने कहा कि महाराष्ट्र में अब तक म्यूकरमाइकोसिस से 90 लोगों की मौत हो चुकी है। ये स्थिति बहुत ही गंभीर है। इसलिए हमें इसको हल्के में बिल्कुल भी नहीं लेना चाहिए।

ब्लैक फंगस का मुफ्त में इलाज –
टोपे ने कहा – हमें ब्लैक फंगस के मामले को रोकने के लिए कोविड के इलाज में अंधाधुंध स्टेरॉयड के इस्तेमाल से बचना चाहिए। राज्य में वर्तमान में लगभग 1,500 मरीज म्यूकरमाइकोसिस से पीड़ित हैं। म्यूकरमाइकोसिस को लेकर अगले 10 दिन बहुत महत्वपूर्ण हैं और इसलिए राज्य द्वारा एम्फोटेरिसिन-बी इंजेक्शन के आवंटन की मांग की जा सकती है, जो म्यूकोर्मिकोसिस के इलाज में एक जीवन रक्षक दवा है। राजेश टोपे ने यह भी कहा कि राज्य सरकार महात्मा ज्योतिराव फुले जन आरोग्य योजना के तहत सभी राशन कार्ड धारकों को मुफ्त इलाज मुहैया कराएगी। इस बीमारी के इलाज के लिए प्लास्टिक सर्जन, न्यूरोसर्जन, दंत चिकित्सक सभी की जरूरत है।

You might also like

Comments are closed.