पश्चिम बंगाल में हिंसाचार के निषेधार्थ पिंपरी चिंचवड में भाजपा का प्रदर्शन

पिंपरी। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद से शुरू हुए हिंसाचार के निषेध में पिंपरी चिंचवड में भाजपा की ओर से प्रदर्शन किया गया। पिंपरी मोरवाड़ी स्थित पार्टी कार्यालय के सामने किये गए इस आंदोलन में तृणमूल काँग्रेस और पश्चिम बंगाल सरकार के धिक्कार के नारों से पूरा इलाका गूंज उठा। पश्चिम बंगाल के चुनाव में पुरोगामी कहलवाने वाले महाराष्ट्र के उन नेताओं जिन्होंने ममता बॅनर्जी को समर्थन दिया था, उनमें से किसी ने भी अब तक हिंसाचार की निंदा करने की संवेदनशीलता नहीं दिखाई। यह टिप्पणी पार्टी के शहराध्यक्ष तथा विधायक महेश लांडगे ने की।
पश्चिम बंगाल में, सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने विधानसभा चुनाव के बाद हिंसा पर राज्यव्यापी कार्रवाई शुरू कर दी है। भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता मारे जा रहे हैं। विधायक महेश लांडगे ने कहा कि इस प्रकार की राजनीतिक हिंसा लोकतंत्र की हत्या है। चुनावी परिणाम के बाद उस राज्य में बदले की राजनीति शुरू हो गई है। तृणमूल कांग्रेस के गुंडे विभिन्न स्थानों पर भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमला कर रहे हैं। भाजपा कार्यकर्ताओं को मारना, उनके घरों को जलाना, उनकी दुकानों में आग लगाना या व्यवसाय के लिए जगह लेना पड़ रहा है। यह लोकतंत्र की हत्या है, इन शब्दों में उन्होंने हिंसाचार की निंदा की है। विधायक लांडगे के नेतृत्व में किये गए इस आंदोलन में संगठन महासचिव अमोल थोरात, मोरेश्वर शेडगे, राजू दुर्गे, नगरसेवक कुंदन गायकवाड, प्रसिद्घीप्रमुख संजय पटनी आदि शामिल थे।
You might also like

Comments are closed.