भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल फिर से हुए ट्रोल

पुणे: भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल हमेशा किसी न किसी कारण से चर्चा में रहते हैं। कभी मुख्यमंत्री ठाकरे पर टिप्पणी तो कभी राष्ट्रवादी के अध्यक्ष शरद पवार पर निशाना साधने की वजह से चर्चा में रहते हैं। आज भी वो सोशल मीडिया पर खूब छाये हुए हैं, लेकिन आज वो किसी अन्य कारण की वजह से चर्चा में हैं। पुणे में एक कार्यक्रम के दौरान दिवंगत राष्ट्रपति डॉ कलाम के विषय में गलत बाते बोल कर चर्चा में आ गये हैं।

पुणे में भाजपा युवा मोर्चा की ओर से आयोजित कार्यक्रम में पाटिल ने कहा कि राष्ट्रप्रेमी मुस्लिम समाज का विरोध नहीं लेकिन जो स्लीपर सेल के रूप में काम कर रहे हैं उनका विरोध नहीं करना है क्या? प्रधानमंत्री मोदी ने बड़े पैमाने पर सर्वसामान्य को प्रधानता दिया है। मोदी ने अब्दुल कलाम को राष्ट्रपति बनाया था। डॉ कलाम को मुस्लिम नहीं बल्कि कर्तव्यनिष्ठ, संशोधक के रूप में अवसर दिया था।

मूल रूप से डॉ कलाम के कार्यकाल और प्रधानमंत्री के कार्यकाल में बहुत अंतर है। डॉ कलाम ने 25 जुलाई 2002 से 25 जुलाई 2007 तक राष्ट्रपति पद की शोभा बढ़ाई। उस वक़्त अटल बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री थे। मोदी तो 2014 में प्रधानमंत्री बने। ऐसे में चंद्रकांत पाटिल द्वारा युवाओं के कार्यक्रम में दिये गलत बयान के कारण सोशल मीडिया पर छाये हुए हैं।

You might also like

Comments are closed.