भाजपा प्रदेशाध्यक्ष नहीं भुला पा रहे सत्ता से दूर होने का गम

विश्वासघात के कारण आयी विपक्ष में बैठने की नौबत: चंद्रकांत पाटिल
पिंपरी। महामारी कोरोना के संकटकाल में भी भाजपा के महाराष्ट्र प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल राज्य की सत्ता से दूर होने का गम भूला नहीं पा रहे हैं। रविवार को पिंपरी चिंचवड़ मनपा के कोविड सेंटर के निरीक्षण दौरे के बीच सँवाददाताओं के साथ की गई बातचीत में पाटिल अपना गम खुले तौर पर जाहिर किया। उन्होंने कहा, कोरोना काल में सियासत ठीक नहीं है, लेकिन कोरोना के नाम पर जो चाहिए वह कर लें, ऐसा नहीं होने देंगे। आखिरकार लोगों ने एक अंकुश रखनेवाली शक्ति के तौर पर उन्हें (महाविकास आघाडी) चुनकर दिया है। हमें तो लोगों ने राज्यकर्ता के रूप में चुना था लेकिन हमारे साथ विश्वासघात हुआ और हमें विपक्ष में बैठना पड़ा।
पाटिल ने कहा कि, विपक्ष नाते हम एक अंकुश शक्ति हैं और मनमानी व गलत कामों को बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं करेंगे। इन दिनों कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। हालांकि रेमडेसिवीर और ऑक्सीजन की किल्लत का मसला अब नियंत्रण में हैं। कोरोना काल में राजनीति करना उचित नहीं है लेकिन उसके नाम पर जो भी चाहिए वो कर लें, यह नहीं होने देंगे। भूतपूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख के घर पर सीबीआई की छापेमारी को सत्ता और सीबीआई के दुरुपयोग का आरोप राज्य के सत्ताधारियों द्वारा लगाया जा रहा है। इसका खंडन करते हुए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने कहा, मेरे पास कोर्ट के आदेश की कॉपी है जिसमें आखिरी पैराग्राफ में एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए हैं। इसमें सत्ता या सीबीआई के दुरुपयोग की बात कहां आती है? लोगों को उल्लू बनाने का काम शुरु है। खुद कोर्ट ने इस मामले में सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं। अगर इस पर कुछ कहना है तो कल ही कोर्ट में अवमानना याचिका दायर करता हूँ, यह चेतावनी भी उन्होंने दी।
शिवसेना के प्रवक्ता संजय राउत द्वारा भाजपा पर लगातार किये जा रहे हमलों पर भाजपा नेता चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि, सुप्रीम कोर्ट जब केंद्र सरकार को फटकार लगाता है तो राउत कहते हैं कि देखो सुप्रीम कोर्ट ने मोदी को फटकारा। अब जब महाराष्ट्र सरकार को फटकार लगाई है तब कहते हैं कि कोर्ट मैनेज है। राउत के बयानों पर टिप्पणी करने के साथ ही पाटिल ने भाजपा के पंढरपुर का उपचुनाव और पश्चिम बंगाल का विधानसभा चुनाव जितने का दावा किया। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में हम 200 से ज्यादा सीटें जीतेंगे। हम जीते तो ईवीएम घोटाला हार गए तो ईवीएम में कोई गड़बड़ी नहीं रहती। यह तंज कसते हुए चंद्रकांत पाटिल ने केजरीवाल- मोदी विवाद पर से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए अनिल देशमुख पर कार्रवाई किये जाने की खबर की खिल्ली उड़ाई।  बहरहाल पाटिल ने आज पिंपले गुरव में कोविड सेंटर का निरीक्षण कर चिखली में एंबुलेंस का लोकार्पण भी किया। इन दोनों ही कार्यक्रमों में भारी भीड़ उमड़ी थी। यहां सोशल डिस्टटिंग के नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई गई।
You might also like

Comments are closed.