BIG NEWS: PM मोदी के ‘ड्रीम’ बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट पर ‘ठाकरे’ सरकार का ‘ब्रेक’?

मुंबई: समाचार ऑनलाइन- मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना की फिर से समीक्षा करने का फैसला लिया है। उन्होंने यह भी कहा कि राज्य के वित्त विभाग का श्वेत पत्र निकालकर जल्द ही मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाएगा। हालाँकि नई ठाकरे सरकार ने एक-एक करके भाजपा को झटके देने की शुरूआत कर दी है। सत्ता में आने के तुरंत बाद ही उन्होंने आरे में मेट्रो कारशेड के काम रोक दिया है। इस तरह, ठाकरे ने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट को अधर में लटका दिया है. बता दें कि मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना की लागत 11 लाख करोड़ रुपये है।

‘वर्तमान में चल रहे विकास कार्यों के अवलोकन का आदेश दिया है’

एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए, उद्धव ठाकरे ने कहा, “मैंने चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा करने के आदेश दिए हैं। हम इन कार्यों की अनुमानित लागत, बाधाओं और इन परियोजनाओं की अवधि सहित सभी महत्वपूर्ण बिन्दुओं की फिर से समीक्षा करेंगे. उसके बाद हम तय करेंगे कि किस परियोजना को प्राथमिकता दी जाए।

सीएम ठाकरे ने कहा कि वह किसी भी निर्णय को समझदारी से लेंगे. साथ ही उन्होंने कहा कि, “अन्य सभी परियोजनाओं की जिस तरह समीक्षा की जाएगी, वैसे ही बुलेट ट्रेन परियोजना की भी की जाएगी.”

बुलेट ट्रेन परियोजना के बारे में…

मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना की नियोजित लागत 11 लाख करोड़ है, जिसमें से 81 प्रतिशत राशि जापान इंटरनेशनल को-ऑपरेशन एजेंसी द्वारा दी जाएगी. फंड को 50 साल के ऋण के माध्यम से 0.1 प्रतिशत ब्याज पर दिया जाएगा. इसके लिए नेशनल हाईस्पीड रेल कॉर्पोरेशन की स्थापना की गई है। इसमें महाराष्ट्र और गुजरात राज्य में 5,000 करोड़ रुपये और केंद्र सरकार में 10 हजार करोड़ रुपये का निवेश है। इसकी समय सीमा 2023 तक है। इस परियोजना के लिए कुल 1380 हेक्टेयर भूमि की आवश्यकता होगी। इसमें से 548 हेक्टेयर जमीन सरकार ने अधिकृत कर ली है। पालघर के लोगों द्वारा लगातार इस परियोजना का विरोध किया जा रहा है.

visit : punesamachar.com

Comments are closed.