BHR Scam | बीएचआर पतसंस्था घोटाला व ठगी मामले में सुनील झंवर को 10 दिन की  पुलिस कस्टडी 

सुनील झंवर को 10 दिन की  पुलिस कस्टडी

पुणे (Pune News), 12 अगस्त : बीएचआर पतसंस्था घोटाला (BHR Scam) व ठगी मामले (Fraud Case) में गिरफ्तार (Arrest) किये गए मुख्य आरोपी सुनील देवकीनंदन झंवर (Sunil Devkinandan Jhanwar) को कोर्ट ने 20 अगस्त तक पुलिस कस्टडी (police custody) में भेज दिया है।  स्पेशल सेशन जज एस एस गोसावी (S S Gosavi) ने (BHR Scam) यह आदेश दिया ।

 

झंवर को पुणे पुलिस (Pune Police) की इकनोमिक ओफ्फेंसेस विंग की टीम ने मंगलवार की दोपहर साढ़े 12 बजे नाशिक के पंचवटी परिसर से गिरफ्तार किया है।  जमाकर्ताओं से ठगी मामले में रिटार्यड शिक्षिका रंजना घोरपड़े (Ranjana Ghorpade) ने डेक्कन पुलिस स्टेशन (Deccan Police Station) में शिकायत दर्ज कराई थी।  इसके बाद घोटाला और ठगी का केस दर्ज किया गया था।  इसके साथ ही शहर, पिंपरी-चिंचवड़ (Pimpri-Chinchwad) व पुणे (Pune) जिले के जमाकर्ताओं से ठगी का केस दर्ज है।
इस मामले में अब तक जीतेन्द्र कंडारे, कर्जदार व अन्य सहित 19 लोग गिरफ्तार किया जा चुके है।  इस अपराध में अब तक 72 करोड़ 56 लाख 21 हज़ार 156 रुपए के घोटाले की बात जांच में सामने आई है।
अब तक पुलिस  (Police) ने गहने और कैश मिला कर 30 लाख 5 हज़ार 436 रुपए जब्त किये है।  पतसंस्था ने पुणे में 21 करोड़ 30 लाख रुपए में ख़रीदे है।   तीन प्रॉपर्टी सुनील झंवर (Sunil Jhanwar) ने अपनी संस्था व उसके सालासर कंपनी के पहले पार्टनर योगेश लड्ढा (Yogesh Laddha) के नाम पर अब तक 5 करोड़ 72 लाख 44 हज़ार 221 रुपए की खरीदी करने की जानकारी सामने आई है।
झंवर ने कुछ इलेक्ट्रॉनिक्स सबूत नष्ट किया या छिपाया है।  पुलिस से बचने के दौरान उसने किससे संपर्क किया, इसकी जांच की जा रही है।

 

 

Maharashtra Unlock Guidelines | राज्य के प्राइवेट कार्यालय अब 24 घंटे ; सरकार की इन शर्तों का पालन करना होगा

Maharashtra | स्वतंत्रता दिवस से प्रतिबंधों से मुक्ति! मॉल्स, दुकानें, होटल्स, बार शुरू ; मंदिर, प्रार्थना स्थल, मल्टीप्लेक्स बंद

 

 

 

You might also like

Comments are closed.