नए संसद भवन का भूमिपूजन…मोदी ने कहा- इसे देखकर पीढ़ियां गर्व करेंगी  

नई दिल्ली. ऑनलाइन टीम : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को नए संसद भवन के निर्माण के लिए  भूमि पूजन किया है।  मोदी ने कहा कि और इससे सुंदर क्या होगा, इससे पवित्र क्या होगा कि जब भारत अपनी आजादी के 75 वर्ष का पर्व मनाएं, तो उस पर्व की साक्षात प्रेरणा, हमारी संसद की नई इमारत बने।

राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट के बीच में संसद के इस नए भवन को बनाने के लिए पहले करोड़ों रुपये की लागत से बनी इमारतों को भी तोड़ना होगा। नई संसद चार मंजिला होगी और इसके निर्माण पर 971 करोड़ रुपए की लागत आने का अनुमान है। इसका निर्माण कार्य भारत की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ यानी 2024 तक तक पूरा कर लिया जाएगा। नए भवन के लोकसभा चैंबर में 888 सदस्यों और राज्यसभा चैंबर में 384 सदस्यों के बैठने की क्षमता होगी। हर संसद सदस्य को कार्यालय के लिए 40 वर्गमीटर जगह दी जाएगी।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा था कि नया संसद भवन आत्मनिर्भर भारत का एक ऐसा मंदिर होगा जो राष्ट्र की विविधता को प्रतिविंबित करेगा। यह पुराने संसद भवन से 17,000 वर्गमीटर बड़ा होगा। यहां जान लें कि एडविन लुटियंस के डिजाइन के आधार पर बनाया गया भारत का संसद भवन 1921 में बनकर तैयार हो गया था। इसे बनाने में उस समय 83 करोड़ रुपये का खर्च आया था। यह पूरा परिसर 2.4 हेक्टेयर इलाके में बना है।

You might also like

Comments are closed.