नए साल में आईपीओ लेकर आएगी पतंजलि, बाजार से पूंजी जुटाने की तैयारी में बाबा रामदेव 

हरिद्धार, 14  दिसंबर : योग गुरु बाबा रामदेव की पतंजलि आयर्वेद जल्द ही शेयर बाजार में कदम रखने जा रही है।  बाबा रामदेव ने कहा कि उनकी कंपनी एक महीने के अंदर अपना आईपीओ लेकर आएगी, जिससे वो बाजार से पूंजी जूटा सके। इसके साथ ही वो 2025 तक पतंजलि को विश्व की सबसे बड़ी एफएमसीजी ब्रांड बनने का लक्ष्य रहा है। बाबा रामदेव ने संकेत देते हुए कहा कि वो नए साल में एक ‘अच्छी खबर’ सभी को देंगे।
शेयर बाजार में कंपनी को करेंगे लिस्टेड
बाबा रामदेव ने कहा कि वो पतंजलि को शेयर बाजार में लिस्टेड करना चाहते है। हलांकि इससे पहले वो कई बार कंपनी का आईपीओ लाने  की बात से इंकार कर चुके थे। दो महीने पहले ही उन्होंने कहा था कि उनकी कंपनी एक चैरीटेबल कपंनी है और वो किसी तरह का बाहरी निवेश नहीं  चाहते है।
धनतेरस के दिन दिल्ली में पीतमपुरा में पतंजलि ने अपना पहला ब्रांडेड कपड़ों  का रिटेल स्टोर परिधान खोला था। एफएमसीजी, डेयरी और आयुर्वेदिक उत्पादों के बाद अब रेडीमेड गारमेंट में उतरकर अपने व्यापार को गति देने की कोशीश बाबा रामदेव ने की है।
इस स्टोर में तीन हजार तरह के कपड़ों की वैरायटी लेकर के आये है। इसमें किडवियर, महिलाओं के परिधान, पुरुषों के सभी कपडे, योगा वेयर, फेंसी ड्रेस शामिल होगी। कपड़े भारतीय शैली को ध्यान में रखकर बनाये जायेंगे और  यह पूरी तरह से स्वदेशी हैं।
बेचेंगे खादी उत्पाद, फैब इंडिया को देंगे टक्कर
रामदेव के प्रवक्ता एस के तिजारावाला ने कहा कि ‘अगर हमारे देश में फैब इंडिया जैसी विदेशी कंपनियां खादी प्रॉडक्टस बेच रही है तो यह महात्मा गांधी और उनकी राजनितिक विचारधारा की हत्या है। पतंजलि की कपड़ा सेक्टर के लिए बड़ी योजनाएं हैं। बाबा रामदेव की ‘खादी ‘के उत्पादन में बड़े स्तर पर उतरने की योजना है।
मरीजों को ध्यान में रखकर बनाये जायेंगे कपड़ें 
पतंजलि का प्रोजेट्स वो हर प्रोडेक्ट बनाने का है जिसे विदेशी कंपनियां भारत में धड़ल्ले से बेच रही है। मेड इन इंडिया के उद्देश्य से प्रोडेक्टस बनाने में लगे बाबा रामदेव पहले से ही भारतीय मार्केट में छाये हुए है। मरीजों को ध्यान में रखकर भी कपड़ों को बनाया जायेगा।
फेसबुक, गूगल से भी किया करार
पतंजलि के उत्पादों की खरीदने में अगर कोई दिक्क्त आ रही है तो घर बैठे आप फेसबुक या फिर गूगल से इसके लिए ऑनलाइन ऑर्डर का सकेंगे। इसके लिए बाबा रामदेव ने दोनों बड़ी ऑनलाइन टेक कंपनियों से करार किया है।