मुंबई महानगर क्षेत्र में 1 मार्च से ऑटो-टैक्सी के भाड़े में बढ़ोतरी

मुंबई : कोरोना के बाद पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों के कारण मुंबई महानगर क्षेत्र में ऑटो रिक्शा और टैक्सी के भाड़े में 3 रुपए की बढ़ोत्तरी का निर्णय राज्य सरकार ने लिया है। 1 मार्च से ही यह किराया लागू होगा। यह जानकारी परिवहन मंत्री अनिल परब ने दी है। 6 वर्षो के बाद रिक्शा और टैक्सी का किराया बढ़ाया गया है।

मुंबई महानगर प्रदेश परिवहन प्राधिकरण की बैठक में रिक्शा और टैक्सी का किराया बढाने का निर्णय लिया गया है।  यह प्रस्ताव मान्यता के लिए राज्य सरकार के पास भेजा गया था। इस प्रस्ताव पर मुहर लगाने की जानकारी परिवहन मंत्री ने दी। इसके अनुसार ऑटो रिक्शा के लिए न्यूनतम किराया 18 रुपये से बढ़ाकर 21 रुपये कर दिया गया है, जबकि टैक्सी का किराया 22 रुपये से बढ़ाकर 25 रुपये कर दिया गया है।

बेस फेयर के बाद प्रति किलोमीटर के लिए रिक्शे का किराया 14.20 रुपए और टैक्सी के लिए 16.93 रुपए किये गये हैं। शुरुआती किराये के बाद हर किलोमीटर रिक्शा भाड़ा 2.01 और टैक्सी भाड़ा 2.09 रुपए से बढ़ा है। यह नियम 1 मार्च से लागू होगा। हालंकी मीटर कोलेब्रेशन के लिए 3 महीने का समय लगेगा। इसलिए 31 मई तक रेट कार्ड के आधार पर ही किराया वसूला जाएगा।

शेयर रिक्शा के किराये में भी होगा बदलाव

रिक्शा टैक्सी के नये भाड़े की घोषणा करने के बाद अब शेयर रिक्शा और टैक्सी के दर मेें भी बढ़ोतरी की जएगी। परिवहन विभाग की ओर से दर निश्चित करने की प्रक्रिया पूरी की जाएगी।

सीएनजी रिक्शे के भी बढेंगे दाम

मुंबई, ठाणे परिसर में ढाई से पौने तीन लाख रिक्शा हैं। इसमे से 97 प्रतिशत ऑटो सीएनजी पर चलता है। हलांकी पेट्रोल, डीजल के दाम बढे हैं लेकिन सीएनजी के दाम तो जस के तस हैं फिर भी किराये में बढ़ोतरी से यात्रियों ने नाराज़गी व्यक्त की है।

You might also like

Comments are closed.