Aurangabad | महाराष्ट्र के औरंगाबाद में घर ढहने से दादा-पोती की मौत हो गई

औरंगाबाद : Aurangabad | पैठण तालुका के घरेगांव में कल रात भारी बारिश के कारण एक घर की छत गिर गई। हादसे में दादा समेत एक पोती की मौत हो गई। 60 वर्षीय दादा और 13 साल की बच्ची की मौत से पुरे गांव में मातम पसर गया है। दोनों का मलबे में दबकर मौत हो गयी। घटना (Aurangabad) देर रात करीब 12.30 बजे की है। जगदिश विठ्ठल थोरे (Jagdish Vithal Thore) (उम्र 60) वेदिका ज्ञानेश्वर थोरे (Vedika Dnyaneshwar Thore)(उम्र 13) मृतक दादा और पोती का नाम है। हादसे में बहू और पोता घायल हो गए।

जानकारी के मुताबिक, पिछले दस से बारह दिनों में पैठण तालुका में विभिन्न स्थानों पर भारी बारिश हुई है। लेकिन, आडूळ क्षेत्र के घरेगांव में बीती रात तीन-चार घंटे भारी बारिश हुई। इससे क्षेत्र में हर तरफ बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई है।

रात आठ बजे के बीच थोरे परिवार सो गया था। इस बीच भारी बारिश के कारण घर का छत गिर गया और परिवार के पांच सदस्य उस पर दब गए। ग्रामीणों ने तीन लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया। हालांकि जगदीश थोरे और वेदिका थोरे दोनों गिरे हुए मलबा के ढेर के नीचे दब गए। इससे उनकी मौत हो गई। रात में जैसे ही आसपास के लोगों को इस घटना की जानकारी हुई उन्होंने तुरंत एक जेसीबी चालक से संपर्क किया।

मलबे के ढेर के नीचे फंसे सभी पांच लोगों को बाहर निकाला गया। सभी को एक निजी वाहन में आदुल के स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। घायलों के परिजनों ने बताया कि ग्रामीणों ने एंबुलेंस को घटना की सूचना देने के बाद भी एंबुलेंस समय पर नहीं पहुंची। परिजनों ने शिकायत की है कि जगदीश थोरे और वेदिका थोरे की मौत स्वास्थ्य केंद्र पर रात में डॉक्टरों से उचित इलाज नहीं मिलने के कारण हुई।

इस दौरान डॉक्टरों ने इलाज के दौरान उसे मृत घोषित कर दिया। इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना से आडूळ क्षेत्र में शोक की लहर है। पुलिस उपनिरीक्षक सुरेश माली, बिट जमादार जगन्नाथ उबाले और हनुमान धनवे ने मौके का दौरा किया और पंचनामा दिया। इस घटना की प्राथमिकी पाचोड थाने में दर्ज करायी गयी है। घटना की जांच सहायक पुलिस निरीक्षक गणेश सुरवसे के मार्गदर्शन में की जा रही है।

Mumbai | मुंबई में भी स्कूल खुलेंगे ? महापौर ने दी महत्वपूर्ण जानकारी 

 

You might also like

Comments are closed.