‘तारक मेहता’ फेम ‘एक्ट्रेस’ पर दलित समुदाय को लेकर दिए गए बयान मामले में ‘अ‍ॅट्रासिटी’ का केस दर्ज

मुंबई : ऑनलाइन टीम – ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में बाबित का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस मुनमुन दत्ता ने कुछ दिन पहले दलित समुदाय को लेकर बयान दिया था। अब उनके खिलाफ अंबोली पुलिस स्टेशन में अ‍ॅट्रासिटी’ का मामला दर्ज किया गया है। बता दें कि कुछ दिन पहले मूनमून दत्ता ने एक वीडियो में दलित समुदाय के बारे में नस्लवादी शब्दों का इस्तेमाल किया था।

जिसके बाद ही दलित समुदाय ने नाराजगी जताते हुए कार्रवाई की मांग की थी। अब मुनमुन दत्ता के खिलाफ अंबोली थाने में केस दर्ज कर लिया गया है। यह केस अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम, 2015 के तहत मामला दर्ज किया गया है। दरअसल मुनमुन ने उस वीडियो में कही थी कि ‘सन्‍सक्रीम है, आप जानते हैं मैं सनस्‍क्रीन के ब‍िना बाहर नही न‍िकलती। मस्‍कारा है, ल‍िप ट‍िंट है.. बस ल‍िप ट‍िंट को मैंने ब्‍लश की तरह लगा द‍िया है, क्‍योंकि मैं यूट्यूब में आने वाली हूं और मैं अच्‍छा द‍िखना चाहती हूं, ‘….’ की तरह नहीं द‍िखना चाहती।’

हालांकि एक्‍ट्रेस की माफी के बाद भी #ArrestMunmunDutta सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहा है। मुनमुन दत्ता ने अपने इस वीडियो में हरिजन समुदाय के लिए जातिसूचक शब्‍द का इस्‍तेमाल क‍िया था। अपने इसी वीडियो पर माफी मांगते हुए मुनमुन दत्ता ने बयान जारी किया है. उन्‍होंने ल‍िखा, ‘यह एक वीडियो के संदर्भ में है ज‍िसे मैंने कल पोस्‍ट किया था, जहां मेरे द्वारा इस्‍तेमाल क‍िए गए एक शब्‍द का गलत अर्थ लगाया गया है। यह अपमान, धमकी या क‍िसी की भावनाओं को चोट पहुंचाने के इरादे से कभी नहीं कहा गया था। मेरी भाषा के अवरोध के कारण, मुझे सही मायने में शब्‍द का अर्थ के बारे में गलत जानकारी थी। एक बार जब मुझे इसके अर्थ से अवगत कराया गया तो मैंने तुरंत उस भाग को न‍िकाल द‍िया है।’

एक्‍ट्रेस ने आगे ल‍िखा, ‘मेरा हर जाति, पंथ या ल‍िंग से हर एक व्‍यक्ति के ल‍िए अत्‍यंत सम्‍मान है और समाज या राष्‍ट्र में उनके अपार योगदान को मैं स्‍वीकार करती हूं।  मैं ईमानादार से हर एक व्‍यक्ति से माफी मांगना चाहती हूं जो शब्‍द के उपयोग से अनजाने में आहत हुए हैं और मुझे उसके लिए खेद है।’

Comments are closed.