Anil Deshmukh | पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख को जेल भेजा गया, PMLA कोर्ट ने सुनाया फैसला 

मुंबई (Mumbai News) : सचिन वाझे (Sachin Vaze) 100 करोड़ वसूली मामले में पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) की जांच चल रही है।  देशमुख पर  गृह मंत्री रहते 100 करोड़ रुपए की वसूली करने का आरोप मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह (Parambir Singh) ने लगाया था।  इस मामले में अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) को गिरफ्तार (Arrest) किया गया था।  उन्हें कोर्ट (Court) में पेश किया गया था जहां से उन्हें 6 नवंबर तक ईडी (ED) की कस्टडी में भेज दिया गया था। कस्टडी (Custody) की अवधि समाप्त होने पर  अनिल देशमुख को शनिवार को कोर्ट में पेश किया गया. कोर्ट ने उन्हें 14 दिन के लिए जेल भेज दिया है।

अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) को  मुंबई की स्पेशल पीएमएलए कोर्ट (Mumbai Special PMLA Court) ने 14 दिन के लिए जेल भेज दिया है।  ऐसे  में अब देशमुख को ईडी की कस्टडी (ED custody) से जेल भेज दिया गया है।  इसके बाद देशमुख अपनी जमानत के लिए याचिका दायर कर सकते है।

 

महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख दिवाली से पहले सोमवार को ईडी के समक्ष हाज़िर हुए थे।  इससे पहले उन्हें 5 बार समन भेजा गया था।  देशमुख सोमवार की सुबह 11. 40 में ईडी कार्यालय (ED Office) पहुंचे थे।  इसके 13 घंटे के बाद ईडी ने रात 1 बजे उन्हें गिरफ्तार कर लिया।  फ़िलहाल देशमुख की जांच चल रही है।  ईडी के सहायक संचालक तसिन सुल्तान (Tasin Sultan.) दवारा उनसे पूछताछ की गई।  इस मामले में उन्हें शनिवार को कोर्ट में पेश किया गया था।  कोर्ट ने उन्हें 14 दिन के लिए जेल भेज दिया है।


परमबीर सिंह के लेटर बम से मची थी खलबली

मार्च में परमबीर सिंह (Parambir Singh) को मुंबई पुलिस कमिश्नर के पद (Mumbai Police Commissioner Post) से हटा दिया गया था।  उन्हें होम गार्ड का डीजी बनाया गया था।  इसके बाद परमबीर सिंह का एक पत्र यानी लेटर बम सामने आया।  यह पत्र उन्होंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखा था।  उन्होंने आरोप लगाया था कि अनिल देशमुख ने गृह मंत्री रहते सचिन वाझे से हर महीने 100 करोड़ रुपए की मांग की थी।  इसके साथ ही पुलिस अधिकारियों के ट्रांसफर और पोस्टिंग में पैसे लेने का आरोप लगाया था।

 

Ahmednagar Hospital Fire | नगर के जिला हॉस्पिटल के कोरोना आईसीयू वार्ड में आग ; 7 लोग गंभीर

You might also like

Comments are closed.