Loading...

ट्रंप के आदेश पर डब्ल्यूएचओ से हटा था अमेरिका, अब नाता जोड़ेंगे जो बाइडेन

Loading...

वाशिंगटन. ऑनलाइन टीम – अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मई में ही विश्व स्वास्थ्य संगठन से अमेरिका के अलग होने की घोषणा कर दी थी। चीन पर हमला करते हुए डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था, ”चीन ने डब्ल्यूएचओ को गुमराह किया है। चीन ने हमेशा चीजों को छिपाया है। कोरोना पर चीन को जवाब देना ही होगा। पूरी दुनिया के सामने जवाब देना ही होगा। ट्रंप ने कहा कि डब्ल्यूएचओ पूरी तरह से चीन के नियंत्रण में है। इसलिए हम विश्व स्वास्थ्य संगठन/डब्ल्यूएचओ से अपना नाता तोड़ रहे हैं।”

Loading...
Loading...

लेकिन अब अमेरिकी चुनाव में जीत हासिल करने वाले जो बाइडन ने घोषणा की है कि 20 जनवरी को राष्ट्रपति पद की शपथ लेने के बाद वह अमेरिका को फिर से विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) में शामिल करेंगे। उन्होंने डेलावेयर में गवर्नरों के साथ एक बैठक के दौरान कहा कि फिलहाल महामारी से लड़ाई में डब्ल्यूएचओ का साथ देना जरूरी है। संगठन में सुधार की जरूरत है और हम ऐसा अंदर रहकर ही कर सकते हैं। हालांकि चीन को अब मनमानी नहीं करने दी जाएगी। जरूरत पड़ी तो हम उसके खिलाफ सख्त कदम उठाएंगे। यह भी कहा कि हम चीन को सजा नहीं देना चाहते बल्कि, उसे यह समझाना चाहते हैं कि उसे भी दूसरे देशों की तरह नियमों को मानना होगा। वरना नतीजे बुरे हो सकते हैं।

जो बाइडन ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप चुनाव में हार न मानकर अंतरराष्ट्रीय समुदाय को बहुत गलत संदेश दे रहे हैं। विलमिंगटन में हुई एक बैठक में बाइडन ने कहा कि लोकतंत्र कैसे काम करता है इसको लेकर दुनिया के बाकी हिस्सों में बहुत खराब संदेश जा रहा है। मुझे नहीं पता उनका मकसद क्या है, लेकिन यह बेहद गैर-जिम्मेदाराना है। हम 20 जनवरी को हर हाल में सत्ता संभालेंगे।

Loading...

Comments are closed.