3 हजार की वित्तीय सहायता की घोषणा की अमलबाजी 15 के बाद

पिंपरी। ब्रेक द चेन के दौर में आर्थिक दुर्बल घटक के परिवार के उदरनिर्वाह के लिए पिंपरी चिंचवड मनपा की ओर से एक बड़ा फैसला किया गया है। शहर के गरीब तबके को तात्कालिक वित्तीय सहायता के रूप में मनपा की ओर से तीन हजार रुपए की मदद दी जाएगी। मनपा की इस योजना से शहर के रिक्शा चालक, फेरीवाले, नाई, मोची, घरेलू मजदूर, जिम ट्रेनर आदि घटक लाभान्वित होंगे। इस योजना के लिए 15 मई के बाद आवेदन प्रक्रिया शुरू की जाएगी। पात्र लाभार्थियों के एकाउंट में तीन हजार रुपए की राशि जमा की जाएगी।

यह वित्तीय सहायता एक ही बार प्रदान की जाएगी। इसके लिए मनपा के सभी नागरी सुविधा केंद्रों पर आवेदन उपलब्ध कराए जाएंगे। इसकी प्रक्रिया 15 मई के बाद या हालिया हुई सर्वसाधारण सभा में शहर के 18 हजार फेरीवालों को भी योजना में शामिल करने और सलून के पांच की बजाय दो कर्मचारियों को ही योजना का लाभ देने का फैसला किया गया है। इस योजना के लिए 20 करोड़ 25 लाख रुपए का बजट आबंटित किया गया है।

राज्य सरकार ने कोविड संक्रमण को रोकने के लिए राज्य में 15-दिवसीय ‘ब्रेक चेन’ को लागू किया है। इससे आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए वित्तीय संकट पैदा हो जाएगा। परंपरागत व्यवसाय करके अपनी आजीविका चलाने वाले लोगों पूरा व्यवसाय बर्बाद हो गया है। इसके मद्देनजर विधायक लक्ष्मण जगताप ने सुझाव दिया था कि मनपा को ऐसे कठिन समय के दौरान गरीबों की वित्तीय बाधाओं को कम करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करनी चाहिए।तदनुसार, स्थायी समिति की बैठक में शहर के गरीब तबके के लोगों को तीन हजार रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान करने का निर्णय लिया गया।

इस तरह की स्वतंत्र सहायता प्रदान करने के लिए कदम उठाने वाली पिंपरी चिंचवड़ मनपा राज्य की पहली मनपा है। इस फैसले से बैच धारक ऑटो रिक्शा चालक, पंजीकृत घरेलू मजदूर, मोची, नाई, स्कूली बच्चों की ट्रांसपोर्टेशन करनेवाले चालक, जिम ट्रेनर आदि लाभान्वित होंगे। यह मदद राशि सीधे उनके बैंक एकाउंट में जमा होगी। मनपा के इस फैसले का शहर के मेहनतकशों, ऑटो चालकों और घरेलू मजदूरों के नेता बाबा कांबले ने स्वागत करते हुए मनपा प्रशासन और पदाधिकारियों का आभार प्रकट किया है। ऐसी पहल राज्य सरकार की ओर से भी की जानी चाहिए, यह राय भी उन्होंने जताई है।

 

You might also like

Comments are closed.