Ajit Pawar | कल प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अजित पवार करेंगे बड़ा खुलासा

मुंबई : राज्य के उपमुख्यमंत्री अजित पवार (Ajit Pawar) ने विपक्ष को चेतावनी दी है। जरंडेश्वर शुगर फैक्ट्री (Jarandeshwar Sugar Factory) पर अजित पवार ने टिप्पणी करते हुए विपक्ष को चेतावनी दी है। अजित पवार ने कहा है कि वह कल प्रेस कॉन्फ्रेंस (Press conference) कर इस बात की विस्तृत जानकारी देंगे कि कौन सी चीनी फैक्ट्री किसके कार्यकाल में और कितने रुपये में बेची गई। अजित पवार (Ajit Pawar) ने दुख जताते हुए यह भी कहा कि मेरे परिवार के सदस्यों को जानबूझकर बदनाम किया जा रहा है।

 

अजित पवार ने कहा, ‘महाराष्ट्र में क्या सिर्फ जरंडेश्वर सहकारी चीनी कारखाना (Jarandeshwar Sugar Factory) ही नहीं बिका है, मेरे पास सारे रिकॉर्ड हैं। लेकिन इसके लिए मुझे अच्छे से प्रेस कॉन्फ्रेंस (Press Conference) कर सारी जानकारी देनी है। मेरे पास सारे कागजात हैं। मैं संभवत: यहां या कल पुणे (Pune) में प्रेस कांफ्रेंस करूंगा। उस संदर्भ में महाराष्ट्र (Maharashtra) में शुरू से ही कितनी फैक्ट्रियां बिकीं, किस-किस के कार्यकाल में बिका है। किस भाव में बिका है। आपको हैरानी होगी कि कुछ फैक्ट्रियां 3 करोड़ रुपये, 3.5 करोड़ रुपये, 4 करोड़ रुपये, 5 करोड़ रुपये, कुछ तो 12 करोड़ रुपये, 15 करोड़ रुपये और कुछ 18 करोड़ रुपये में बिकी हैं।

 

कुछ लोग जानबूझकर वही चीजें लाते हैं और मीडिया (Media) भी वही चीजें दिखाता है। मुझ पर बेईमानी करने का आरोप लगाया गया है। पूरा महाराष्ट्र मुझे जानता है। मैंने अपने जीवन में कभी बेईमानी नहीं की है। कुछ बिल्डरों, किसानों, राजनीतिक दलों के लोगों ने भी फैक्ट्रियां (Factories) ली है। लेकिन उनके बारे में कुछ नहीं कहा जा रहा है, मेरे रिश्तेदारों के बारे में बात कर रहे हैं, ऐसा भी अजित पवार (Ajit pawar) ने कहा।

 

बहन की कंपनियों पर छापे क्यों?

 

अजित पवार (Ajit Pawar) के करीबी आयकर विभाग (Income tax department) के रडार पर हैं। आयकर विभाग के अधिकारियों ने कुछ दिन पहले अजित पवार के करीबी की चीनी मिलों पर छापा मारा था। उन्होंने पुणे में अजित पवार की दो बहनों और कोल्हापुर (Kolhapur)  में उनकी बहन के कार्यालयों पर भी छापा (Raid) मारा। आयकर विभाग की कार्रवाई के बाद अजित पवार ने कहा था कि आयकर छापे (Income Tax Raid) राजनीतिक उद्देश्यों के लिए थे और आयकर अधिकारी (Income Tax Officer) ही बता सकते थे कि उन्हें कुछ और जानकारी की जरूरत है।

 

मुझ से जुड़ी कंपनियों पर छापेमारी (Raid) के बारे में बात नहीं नहीं करनी है, क्योंकि मैं भी एक नागरिक हूं। मुझे एक बात का खेद है। मेरी बहन जिसकी शादी 35-40 साल पहले हुई थी। वे अपने-अपने घर में बहुत अच्छे तरीके से रह रहे हैं। इनमें कोल्हापुर और पुणे में दो बहनों के दफ्तरों पर आयकर (Income tax) ने छापेमारी की है। मुझे इसके पीछे का कारण समझ नहीं आ रहा है।

 

 

Amruta Fadnavis | अमृता फडणवीस का ठाकरे सरकार से तीखा सवाल; कहा- अनिल देशमुख, परमबीर सिंह हनीमून के लिए गए क्या? (वीडियो)

Raksha Khadse | एकनाथ खडसे के खिलाफ चुनाव लड़नेवाली भाजपा की रक्षा खडसे को बड़ा झटका

You might also like

Comments are closed.