कोरोना को लेकर AIIMS डायरेक्टर गुलेरिया ने दी चेतावनी,  बोले- कोरोना पीक पर, जल्द लगाए मिनी लॉकडाउन

नई दिल्ली – देशभर में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। एक बार फिर पूरे देश से सामने आए कोरोना के नए मामलों के आंकड़ों ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है। शुक्रवार को पूरे देश में कोरोना संक्रमण के 89,030 नए मामले सामने आए हैं, जो कि 19 सितंबर, 2020 के बाद का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इसी के साथ देशभर में पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 1,23,91,140 हो गई है।

इसको देखते हुए वैज्ञानिकों ने मैथेमेटिकल मॉडल स्टडी के आधार पर कहा है कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर मिड अप्रैल तक अपने चरम यानी पीक पर होगी। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) कानपुर के मणींद्र अग्रवाल सहित अन्य वैज्ञानिकों ने रिसर्च के बाद कहा है कि चल रही कोरोना महामारी की लहर मिड अप्रैल में हर दिन तेजी से बढ़ने वाली है। मणींद्र अग्रवाल ने कहा है कि पिछले कई दिनों के कोरोना केस को देखते हुए हमने मैथेमेटिकल मॉडल पर स्टडी की है, जिसके बाद हम ये कह सकते हैं कि भारत में कोविड-19 के मामले 15 से 20 अप्रैल के बीच अपने चरम पर होंगे। ऐसे में यदि इसी महीने कोरोना पीक पर आ जाता है तो यह उम्मीद की जानी चाहिए कि मई से कोविड-19 कम होने लगेगा।

एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा कि देश में कोरोना वायरस के तेजी से प्रसार को रोकने के लिए “मिनी लॉकडाउन” की आवश्यकता है। देश में कोविड-19 की स्थिति चिंताजनक है और वायरस के प्रसार को लेकर लोग लापरवाही बरत रहे हैं। डॉ. गुलेरिया ने कहा कि वायरस तेजी से फैल रहा है क्योंकि लोगों इसको लेकर लापरवाही कर रहे हैं, मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों को लोग फॉलो नहीं कर रहे हैं।

You might also like

Comments are closed.