Ahmednagar | तहसीलदार ज्योति देवरे के भ्रष्टाचार से जुड़े  कामकाज की जांच कराई जाए, सरोदे के जरिये एसीबी से शिकायत 

अहमदनगर (Ahmednagar News), 14 सितंबर : Ahmednagar | पारनेर की विवादित तहसीलदार ज्योति देवरे (Jyoti Deore) ने अपने पद का दुरुपयोग करके भ्रष्टाचार (Corruption) किया।  इस भ्रष्टाचार की जांच की जाए।  यह मांग जातेगांव (Jategaon) (तालुका – पारनेर) के नागरिक कारभारी भाऊ साहेब पोटघन (Bhau Saheb Potghan) ने ऐड. असीम सरोदे (Adv. Aseem Sarode) के जरिये एंटी करप्शन ब्यूरो (Anti Corruption Bureau) से की है।  इस मामले में एसीबी (Ahmednagar) के दीप्ती पुलिस सुप्रीटेंडेंट हरीश खेड़कर (Harish Khedkar) को मंगलवार को शिकायत दर्ज कराई गई।

 

इस संबंध में ऐड. सरोदे ने बताया कि नगर में जिला अधिकारी डॉ. राजेंद्र भोसले (Dr. Rajendra Bhosale) दवारा  तहसीलदार देवरे के खिलाफ  नियुक्त समिति ने हाल ही में रिपोर्ट दी है।  इस रिपोर्ट में कहा गया है कि देवरे ने बालू का उत्खनन करने वाले वाहन को जब्त करने के बाद किसी भी तरह का सरकार फीस जमा कराये बिना उसे छोड़ दिया।  गैर कृषि कार्य के लिए जमीन ट्रांसफर (land transfer) कर अनियमितता की, बालू तस्करो को संरक्षण देने और जलगांव में कार्यरत रहते भ्रष्टाचार करने का आरोप रिपोर्ट में लगाया गया है।  देवरे का ट्रांसफर (Transfer) होने के बाद भी उनके काम करने का यही तरीका रहेगा।  इसलिए देवरे के खिलाफ भ्रष्टाचार की जांच कराई जाए।
देवरे के आत्महत्या करने के संदर्भ में वायरल हुए क्लिप पर भी सरोदे ने ध्यान खींचा है।  उन्होंने कहा कि महिला को कार्यालय  में कामकाज का काफी दबाव रहता है।  परेशानी उठानी पड़ती है।  यह वास्तविकता है लेकिन किसी के भ्रष्टाचार का समर्थन नहीं किया जा सकता है।  देवरे अपने काम करने का तरीका बदले।  उनके साथ अन्याय हो रहा है तो एक वकील के तौर पर मैं उनके साथ खड़ा हूं।  लेकिन वह महिला होने का गलत फायदा नहीं उठाये।

 

 

 

Maharashtra | आपके अंदर क्या चल  रहा है उसे देखे, सामना के हमले पर राणे का प्रहार

Maharashtra | आदिवासियों के लिए बनी योजना केवल कागजों पर ; हाईकोर्ट ने व्यक्त किया दुःख

You might also like

Comments are closed.