रेप के बाद चलती ट्रेन से महिला को फेंका, नृशंसता की हदें पार

मुंबई. ऑनलाइन टीम : तमाम कोशिशों के बाद भी बलात्कार की घटनाओं में कमी नहीं हो रही है। सबसे बड़ी बात है अगली शिकार महिला के साथ नृशंसता की हदें पार हो रही हैं।

2012 में नई दिल्ली में चलती बस में पैरामेडिकल की छात्रा से जघन्य बलात्कार और हत्या के मामले से गुस्साए हजारों लोग न्याय की मांग को लेकर सड़कों पर उतर आए थे। ‘निर्भया’ कांड के बाद देश में यौन हिंसा के मामले को लेकर सख्त कानून और फास्ट ट्रैक कोर्ट की मांग की गई थी। उसके बाद देश में महिलाओं के खिलाफ हिंसा को लेकर कानून सख्त किए गए, लेकिन महिलाओं के खिलाफ हिंसा अब भी बेरोकटोक जारी है। मुंबई से सटे नवी मुंबई के वाशी इलाके में शुक्रवार को एक और महिला दरिंदगी का शिकार बनी। उसके साथ चलती लोकल में बलात्कार का मामला सामने आया है।

यह पता नहीं चल पाया है कि वह ट्रेन में कैसे पहुंची और कौन-कौन लोग उसके साथ थे तथा बलात्कार की घटना कहां हुई। एक मोटरमैन ने घायल लड़की को देखा, तो स्टेशन मास्टर को जानकारी दी। स्टेशन मास्टर ने यह सूचना जीआरपी को बताई। मौके पर जीआरपी के अधिकारी पहुंचे। उन्होंने घायल महिला को नजदीकी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती करवाया, लेकिन महिला की हालत ज्यादा नाजुक होने की वजह से उसे मुंबई के जेजे अस्पताल में रेफर कर दिया गया। महिला की हालत नाजुक बताई जा रही है। जेजे अस्पताल में इलाज के दौरान मेडिकल रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि भी हुई कि महिला के साथ बलात्कार किया गया है।
जीआरपी से मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार की सुबह वाशी खाड़ी के पास रेलवे की पटरी पर यह महिला घायल अवस्था में जिंदगी और मौत के बीच जूझ रही थी।  पीड़िता टिटवाला की रहने वाली है और पवई इलाके में नौकरानी का काम करती है। फिलहाल जीआरपी वाशी रेलवे स्टेशन पर लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच कर रही है, ताकि आरोपी का कोई सुराग मिल सके।

You might also like

Comments are closed.