नाना, कैलाश के बाद अब इस ‘संस्कारी पिता’ पर लगा रेप का आरोप 

नई दिल्ली | समाचार ऑनलाइन

MeToo कैंपेन शुरू होने के बाद महिलाएं अपने ऊपर हुए शोषण का खुलासा कर रहीं है। इस मामले पर सबसे पहले आवाज तनुश्री दत्ता ने उठाई थी। Tanushree Dutta पर आरोप लगते हुए अपने ऊपर हुए शोषण के खिलाफ आवाज उठाई। तनुश्री दत्ता के बाद अब कई महिलाएं इस मामले पर आवाज उठाने लगी है।

[amazon_link asins=’B078124279′ template=’ProductCarousel’ store=’policenama100-21′ marketplace=’IN’ link_id=’94b62e22-cb8b-11e8-ba5f-0da68ca8a6a9′]

अब राइटर और फिल्ममेकर विंटा नंदा ने आलोक नाथ पर यौन शोषण का आरोप लगाया है। विंटा ने इस बात का खुलासा फेसबुक के जरिये किया । विंटा ने लिखा  उन्होंने मेरे साथ शारीरिक दुर्व्यवहार किया, जब मैं साल 1994 के मशहूर शो ‘तारा’ के लिए काम कर रही थी। विंटा ने आगे लिखा ‘मुझे पार्टी में बुलाया था। उनकी पत्नी उस वक़्त शहर से बाहर थीं। यह आम पार्टी थी जिसमे मेरे दोस्त भी आने वाले थे इसलिए मैंने पार्टी में जाने से ऐतराज नहीं किया। पार्टी में ड्रिंक में उन्होंने कुछ मिलाया गया था। रात के करीब 2 बजे मैं उनके घर से निकली।

आखिरकार चिखली पुलिस थाने के लिए मिला मुहूर्त

[amazon_link asins=’B01NCN4ICO,B071DF166C’ template=’ProductCarousel’ store=’policenama100-21′ marketplace=’IN’ link_id=’6010bec4-cb8c-11e8-ac6f-65bb7587d0fe’]

मुझे बहुत अजीब सा लग रहा था। मैं इतने तो होश में थी कि, मुझे लगा कि उनके घर पर ठरहना सही नहीं है। घर से निकलने के बाद वो कार लेकर आया और कहा ”मैं छोड़ देता हूं।” मैं उसे जानती थी इसलिए बैठ गई। उसके बाद का क्या हुआ अच्छे से याद नहीं। बस इतना याद है मेरे मुंह में किसी ने जबरदस्ती शराब डाली। जब दूसरे दिन दोपहर में उठी तो दर्द महसूस हुआ। तब मुझे पता चला कि मेरा बलात्कार हुआ है।

[amazon_link asins=’B01NCN4ICO’ template=’ProductCarousel’ store=’policenama100-21′ marketplace=’IN’ link_id=’bbceb9a2-cb8b-11e8-9796-975ba645529e’]

हालांकि विंटा ने इस पोस्ट में कही भी अलोक नाथ का नाम नहीं लिखा है लेकिन संस्कारी शब्द का इस्तेमाल किया है। जिससे यह बताया जा रहा है कि, अलोक नाथ की ही बात हो रही है। इस बयां पर अलोक नाथ ने भी अपना बयान दिया। अलोक नाथ ने कहा ‘आज के जमाने में आहार कोई महिला किसी पुरुष पर आरोप लगाती है तो पुरुष का इस पर कुछ भी कहना मायने नहीं रखता’। इस समय इस मामले पर मैं चुप ही रहना चाहूंगा। उन्हें अपने विचार रखने का पूरा हक है। समय आने पर सही बात अपने आप सामने आ जाएगी। अभी इस बात को पचाने की कोशिश कर रहा हूं।

You might also like

Comments are closed.