बलात्कार के आरोपों का खुलासा बच्चे की डीएनए टेस्ट से हुई रेप,  17 माह बाद आरोपी को जमानत

नई दिल्ली. ऑनलाइन टीम : बलात्कार के आरोपों का खुलासा बच्चे की डीएनए टेस्ट से हुई तो चौंकानेवाला मामला सामने आया। डीएनए की रिपोर्ट में पता चला कि वो व्यक्ति बच्चे का पिता नहीं था। 25 साल का वयक्ति 17 महीनों से जेल में था। डीएनए की रिपोर्ट के नतीजे को देखते हुए अदालत ने उसे जमानत देदी।

दरअसल, यह मामला मुंबई की है और एक ऐसी लड़की से संबंधित है, जो एक विशेष स्कूल में पढ़ती है। वह न तो बोल सकती है और न ही सुन सकती है। उसने पेट दर्द की शिकायत की। जुलाई 2019 में जब वह स्कूल में थीं तब पेट दर्द की शिकायत की। परिवार लड़की को अस्पताल ले गया। वहां पता चला कि लड़की गर्भवती है। मामला थाने पहुंचा और पड़ोंस में ही रहने वाले एक 25 साल के एक युवक को  बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया।

आरोप है कि रेस्त्रां में काम करने वाले इस युवक ने उस लड़की का बलात्कार किया। इस बीच, आरोपी ने अपनी जमानत के लिए याचिका दायर की, लेकिन उसे खारिज कर दिया गया, क्योंकि मामले की जांच तब भी चल रही थी। इस पर आरोपी लड़के ने बच्चे के डीएनए की जांच की मांग की, ताकि साबित हो सके कि वह उसका बच्चा नहीं है और उसने बलात्कार नहीं किया था।

अदालत के कहने पर इसकी इजाजत दी गई। जांच में पाया गया कि डीएनए की उससे पुष्टि नहीं हो रही है।  रिपोर्ट और दोनों पक्षों की दलीलों के बाद, अदालत ने यह कहते हुए उस व्यक्ति को जमानत दे दी, “योग्यता के आधार पर मामले को तय करने में समय लगेगा डीएनए रिपोर्ट को देखते हुए, उसकी प्रार्थना को अनुमति देने की जरूरत है।”

You might also like

Comments are closed.