लाल ग्रह की झलक कमाल, नासा के रोवर ने भेजी खास तस्वीरें

नई दिल्ली . ऑनलाइन टीम  मंगल गृह सौरमंडल में सूर्य से चौथा ग्रह है। इसके तल की आभा रक्तिम है, जिस वजह से इसे “लाल ग्रह” के नाम से भी जाना जाता है। पृथ्वी की तरह, मंगल भी एक स्थलीय धरातल वाला ग्रह है। इसका वातावरण विरल है। इसकी सतह देखने पर चंद्रमा के गर्त और पृथ्वी के ज्वालामुखियों, घाटियों, रेगिस्तान और ध्रुवीय बर्फीली चोटियों की याद दिलाती है। अपनी भौगोलिक विशेषताओं के अलावा, मंगल का घूर्णन काल और मौसमी चक्र पृथ्वी के समान हैं। इस ग्रह पर जीवन होने की संभावना को हमेशा से परिकल्पित किया गया है। अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा का रोवर वहां पहुंच गया है। उसने मंगल ग्रह की कुछ तस्वीरें भेजी हैं। वैज्ञानिकों को किसी बड़ी उपलब्धि का इंतजार है।

एक तस्वीर में साफ दिख रहा है कि रोवर नीचे उतरने के पैराशूट फेज़ में है। फोटो हाई-रेज्यूलेशन वीडियो से लिया गया है जिसे स्पेसक्राफ्ट में से बनाया गया था, वही स्पेसक्राफ्ट जो रोवर को लेकर अंतरिक्ष में ले गया है। इसे बड़ी तकनीकी उपलब्धि के रूप में देखा जा रहा है, क्योंकि उपग्रह- मार्स रिकौनसंस ऑर्बिटर- उस वक़्त पर्सिवियरेंस से क़रीब 700 किलोमीटर दूर था और तीन किलोमीटर प्रति सेकेंड की रफ़्तार से ट्रैवल कर रहा था।

मिशन से जुड़ी रंगीन तस्वीर भी सामने आई है जहां मंगल की सतह दिखाई दे रही है। पर्सिवियरेंस में 23 कैमरे और 2 माइक्रोफोन लगे हैं। एक अन्य रंगीन तस्वीर में रोवर के छह पहिए दिख रहे हैं और कई छत्ते वाली चट्टानें दिख रही हैं जो 3.6 अरब साल से ज्यादा पुरानी लग रही हैं। बहरहाल, पर्सिवियरेंस का नेविगेशन रॉड अभी बाहर आने को है। नासा को उम्मीद है कि आने वाले दिनों में और अधिक रिज़ॉल्यूशन की तस्वीरें और वीडियो आएंगे।

You might also like

Comments are closed.