गूगल सर्च कर रची हत्या की साजिश! महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश अपने घर लौटे पति को प्रेमी की मदद से मार डाला

ऑनलाइन टीम- एक व्यक्ति जो लॉकडाउन के कारण महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश अपने घर लौटा था, उसकी पत्नी ने अपने प्रेमी की मदद से उसकी हत्या कर दी। यह घटना उत्तर प्रदेश के हरदा जिले के खेड़ीपुर इलाके की है। मामले की जांच के दौरान पुलिस भी चकरा गई। जांच में यह पता चला है कि महिला ने अपने पति की हत्या कर उसे ठिकाने लगाने के लिए गूगल पर सर्च कर साजिश रची।

घटना 18 जून को उत्तर प्रदेश के खेड़ीपुरा इलाके की है। आरोपी महिला का नाम तबस्सुम और हत्या किए गए पति का नाम आमिर है। तबस्सुम का इरफान नाम के शख्स से अफेयर था। 18 जून को तबस्सुम ने पुलिस को बताया कि आमिर की मौत हो गई है। उसने कहा कि उसे नहीं पता कि उसकी मौत कैसे हुई। सूचना मिलने के बाद पुलिस ने मौके का मुआयना कर जांच शुरू कर दिया।

जांच के दौरान पता चला कि तबस्सुम ने अपने बॉयफ्रेंड इरफान के साथ मिलकर अपने पति आमिर की हत्या की थी। आमिर महाराष्ट्र में नौकरी करता था। इस दौरान उसके सामने आर्थिक दिक्कतों का सामना करना पड़ा। इसी दौरान इरफान और तबस्सुम के बीच प्यार हुआ। वहीं आमिर लॉकडाउन के चलते महाराष्ट्र से घर लौट आया। आमिर की घर वापसी तबस्सुम और इरफान के लिए एक बड़ा झटका था। मिलने में असमर्थ, तबस्सुम और इरफान ने आमिर को मारने का फैसला किया।

पुलिस के मुताबिक आमिर अस्थमा से पीड़ित था और उसे रोजाना दवा लेनी पड़ती थी। तबस्सुम ने आमिर को रोजाना अस्थमा की गोलियां नहीं दीं। इसके बजाय, उसने दूसरी दवाई दी। जिससे आमिर बेहोश हो गया। फिर तबस्सुम और इरफान ने रात में आमिर को मार डाला। दोनों ने आमिर के हाथ पैर को रूमाल से बांध दिया और फिर इरफान ने उसके सिर पर हथौड़े से वार किया। पुलिस ने बताया कि इरफान आमिर को हथौड़े से तब तक पीटता रहा जब तक उसकी मौत नहीं हो गई।

तबस्सुम ने हत्या के बाद पुलिस को सूचित किया, लेकिन वह जांच को भटकाने की कोशिश कर रही थी। पुलिस ने मौके पर जाकर निरीक्षण किया। क्या लूट के प्रयास में उसकी हत्या की गई थी? इसकी भी पुलिस ने जांच की। हालांकि, घटनास्थल पर मिले सबूतों ने तबस्सुम पर संदेह जताया।

इस तरह साजिश का खुलासा हुआ

पुलिस ने हत्याकांड का पर्दाफाश करने के लिए साइबर सेल की मदद ली है। पुलिस को तबस्सुम के कॉल का पता चला। पुलिस ने जांच की कि उसने किसे फोन किया था, पुलिस ने देखा कि तबस्सुम और इरफान के बीच कई बार बातचीत हुई थी। इससे पुलिस को शक हुआ। पुलिस ने अह भी चेक किया कि तबस्सुम ने गूगल पर क्या सर्च किया। जांच में पता चला कि तबस्सुम ने हत्या कैसे करनी है और कैसे हाथ बांधना है, शव को कैसे ठिकाना लगाना है, इसकी जानकारी ढूंढी थी। तबस्सुम को पुलिस हिरासत में लेकर वर्दी की ताकत दिखाई तो उसने जुर्म कबूल कर लिया।

You might also like

Comments are closed.