क्रिकेट के इतिहास में 5 सबसे मोटे खिलाड़ी, जो लगाते हैं ताबड़तोड़ छक्के

मुंबई : समाचार ऑनलाइन – क्रिकेट को जेंटलमैन का गेम कहा जाता है। इस खेल में बने रहने के लिए सबसे ज्यादा ध्यान फिटनेस पर देना पड़ता है। जिसका जीता जागता उदाहरण विराट कोहली से लेकर एबी डीविलियर्स तक है। फिटनेस के मामले में कई ऐसे खिलाड़ी है जिनका लेवल काफी हाई है। जिसमें हार्दिक पंड्या, के एल राहुल, धोनी समेत ऐसे कई खिलाड़ी मौजूद है।

Loading...

इन सब के बावजूद क्रिकेट के इतिहास में सबसे मोटे खिलाड़ियों का नाम भी सर्वश्रेठ खिलाड़ियों में शामिल है। जिसमें सबसे पहला नाम रहकीम कॉर्नवॉल का आता है। उनकी उच्चाई और वजन सबसे ज्यादा है।

5 सबसे मोटे खिलाड़ी –
रहकीम कॉर्नवॉल –
रहकीम कॉर्नवॉल 6.5 फीट लंबे कद के इस खिलाड़ी का वजन 140 किलोग्राम से ज्यादा है। एन्टिगा में जन्मा यह शानदार ऑलराउंडर लाजवाब स्पिन के साथ बल्लेबाजी में भी खास काम करने में काफी माहिर है। ये कई लंबे-लंबे छक्के भी मारते है।

Image result for रहकीम कॉर्नवॉल -

ड्वेन लीवेरॉक –
साल 2007 के विश्व कप में भारतीय क्रिकेटर रॉबिन उथप्पा का लाजवाब कैच लेने वाले बरमूडा के क्रिकेटर ड्वेन लीवेरॉक दुनिया के सबसे वजनदार क्रिकटेर्स की श्रेणी में आते हैं। इस खिलाड़ी का वजन करीब 136 किलोग्राम बताया जाता है।

Related image

Loading...

वारविक आर्मस्ट्रॉन्ग –
इस सूचि में तीसरा नाम ऑस्ट्रेलिया के वारविक आर्मस्ट्रॉन्ग का आता है। आर्मस्ट्रॉन्ग ऑस्ट्रेलिया के लिए 50 टेस्ट मैच खेले है। इनका वजन करीब 133 किलोग्राम था। इन्हे साथी क्रिकेटर इन्हें ‘बिग शिप’ कहकर बुलाते थे।

Related image

जेसी राइडर –
इस लिस्ट में न्यूजीलैंड के ओपनर विस्फोटक बल्लेबाज जेसी राइडर का नाम भी शामिल है। साल 2008 में इस बाएं हाथ के इस तूफानी बल्लेबाज का वजन 100 किलोग्राम से भी ज्यादा था। करीब 10 किलोग्राम वजन घटाने के बाद इस खिलाड़ी ने वन-डे क्रिकेट में डेब्यू किया था।

Image result for जेसी राइडर -

मोहम्मद शहजाद –
अफगानिस्तान में एमएस धोनी के नाम से प्रसिद्ध यह ओपनर बल्लेबाज कई लाजवाब पारियां खेलकर खेल जगत में सुर्खियां बन चुका है। शहजाद एमएस धोनी की तरह हेलीकॉप्टर शॉट लगाने में काफी माहिर हैं। इस बल्लेबाज का वजन 90 किलो से ज्यादा है, इसके बावजूद क्रीज पर इनकी भागदौड़ और ताबड़तोड़ छक्के लाजवाब हैं।

Related image

You might also like

Comments are closed.