ठाणे के पास स्थित मुंब्रा परिसर के अस्पताल में आग, 4 मरीजों की मौत

मुंबई : मुंब्रा स्थित एम एस प्राईम क्रिटीकेयर अस्पताल में सुबह-सुबह आग लग गई। इसमें आईसीयू के 6 मरीजों में से 4 की मृत्यु हो गई। बुधवार सुबह 3 बजकर 40 मिनट पर यह आग लगी। शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगने की बात कही जा रही है। इन चारो की मृत्यु आग से नहीं बल्कि आग लगने के बाद इलाज न मिलने से हुई है। दूसरे अस्पताल में ले जाने के दौरान उनकी मृत्यु हुई। यह जानकारी ठाणे मनपा की ओर से दी गई है।

राज्य में कोरोना संकट से साथ ही अब अस्पताल में आग लगने की घटना में भी वृद्धि हो रही है। एक ओर इलाज के लिए बेड नहीं मिल रहा है वही दूसरी ओर बेड मिलने पर आग लगने से मौत हो रही है। यास्मीन सय्यद (उम्र 46), नवाब शेख (उम्र 47), हलीमा सलमानी (उम्र 70) और हरीश सोनावणे (उम्र 57) की मृत्यु हुई है।

एम एस प्राईम क्रीटीकेयर अस्पताल में कुल 20 बेड हैं। इसमे से 14 मरीज जनरल वार्ड में थे। वही 6 मरीज आईसीयू में थे। अस्पताल की पहली मंजिल पर आईसीयू में सुबह 3 बजकर 40 मिनट पर आग लग गई। घटनास्थल पर दमकल के 3 बंब, 2 वाटर टैंकर और एक रेस्क्यू वाहन पहुंची। कुछ ही समय में आग पर काबू पाया गया। दमकल टीम को मरीजों को बाहर निकालने में सफलता मिली। हालांकि आईसीयू के 6 मरीज में से 4 मरीज को इलाज न मिलने के कारण मृत्यु हो गई।

गृहनिर्माण मंत्री जितेंद्र आव्हाड ने घटनास्थल का दौरा किया। मृतक के परिजनों को 5 लाख रुपये की मदद की घोषणा की गई। यह घटना क्यों और कैसे हुई इसकी जांच के लिए समिति नियुक्त की जाएगी, ऐसा जितेंद्र आव्हाड ने कहा।

You might also like

Comments are closed.