2022 के विधानसभा चुनावों में रोबोट करेंगे चुनाव प्रचार?

नई दिल्ली, 20 जून (आईएएनएस)। कोरोना वायरस महामारी की घातक दूसरी लहर के चलते देश भर में अनलॉक की प्रक्रिया जारी है लेकिन कई जगहों पर सामूहिक सार्वजनिक सभाएं प्रतिबंधित हैं। ऐसे में तकनीक का सहारा लेकर अगले साल 2022 के विधानसभा चुनावों में राजनीतिक नेताओं के बदले अगर ह्यूमनॉइड रोबोटों से चुनाव प्रचार किया जा रहा हो, तो चौंकिएगा नहीं।

वनस्टैंड इंडिया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने इस मकसद से दूत नामक एक ह्यूमनॉइड रोबोट को विकसित किया है, जो अलग-अलग आवाजों को पहचाने, चेहरे की पहचान करने और हावभावों को समझने की क्षमता रखता है।

इन रोबोटों को अगले साल विधानसभा चुनावों के लिए प्रचार करते हुए देखा जा सकता है। कंपनी के मुताबिक, वे अगले साल कई राज्यों में आयोजित होने चुनावों के लिए इन रोबोट प्रचारकों को इस्तेमाल में लाए जाने को लेकर राजनीतिक दलों के साथ बातचीत कर रहे हैं।

2022 में जिन राज्यों में चुनाव होंगे, उनमें उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, गोवा और गुजरात शामिल हैं।

इस साल अप्रैल में तमिलनाडु विधानसभा चुनावों में एक नवगठित राजनीतिक संगठन इंडिया मक्कल मुनेत्र काची (आईएमएमके) ने पहली बार चुनाव प्रचार के लिए एक ह्यूमनॉइड रोबोट की पेशकश की थी। दूजी कहे जाने वाले इस चार फीट के रोबोट को पार्टी का सिंबल भी कहा जाता है। अब दूत महामारी के बीच अपने संदेशों के साथ लोगों के एक सीमित समूह तक पहुंचकर राजनीतिक दलों की सेवा करने के लिए तैयार है।

वनस्टैंड इंडिया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के निदेशक कुमार कन्हैया सिंह कहते हैं, रोबोट दूत के रोवर में एक बड़ा व्हीलबेस है, जिसमें ऑल-व्हील-ड्राइव गियरबॉक्स है, जो इसे खुरदरी सतहों पर भी आसानी से चलने में सक्षम बनाता है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई)-सक्षम आवाज पहचान के माध्यम से, ह्यूमनॉइड रोबोट दूत राजनेता की ओर से जनता को संबोधित करेगा।

कंपनी की एक टीम द्वारा समय-समय पर प्रश्नों और इंटरैक्शन की समीक्षा की जाएगी, जिसके पास प्रत्येक समीक्षा के बाद अपडेट किए गए सामान्य प्रश्नों का उत्तर होगा।

दूत एक कस्टम-निर्मित सर्वो मोटर से लैस है, जो पूरे ऊपरी शरीर को आसानी से झुकने और उठाने में सक्षम बनाता है।

ह्यूमनॉइड रोबोट दूत 140 डिग्री की स्वतंत्रता के साथ खुद को मोड़ भी सकता है, जिससे यह ऐसा करने वाला देश का एकमात्र ह्यूमनॉइड बन जाता है।

इस रोबोट में एचडी कैमरे उसके सिर में स्थित होते हैं जो ऑपरेटर को दर्शकों को देखने और उपस्थित लोगों को रिकॉर्ड करने में सक्षम बनाता है।

सिंह ने कहा, चौथी पीढ़ी के सर्वो मोटर्स, स्वदेशी रूप से निर्मित हैं। ये मुश्किल से कोई शोर करते हैं और बिना किसी ब्रेकडाउन या सर्विसिंग की आवश्यकता के गर्म भारतीय परिस्थितियों में लंबे समय तक काम करने में सक्षम हैं।

ह्यूमनॉइड औद्योगिक-ग्रेड घटकों के साथ एक एल्यूमीनियम फ्रेम पर बनाए गए हैं।

सिंह ने बताया, महामारी के कारण, राजनीतिक नेता अपनी पार्टी के कार्यकतार्ओं से भी नहीं मिल पा रहे हैं। ये रोबोट प्रचारक बहुत समय बचाएंगे क्योंकि एक ही समय में कई ह्यूमनॉइड कई जगहों पर जा सकते हैं।

–आईएएनएस

एएसएन/आरजेएस

You might also like

Comments are closed.