पुणे से गुजरात तक की गई छापेमारी में 15 करोड़ का गुटखा जब्त

गुटखा स्मगलिंग का गुजरात कनेक्शन उजागर
गुटखा किंग समेत सभी आरोपी पुलिस की पहुंच से दूर ही
पुणे। राज्य सरकार द्वारा प्रतिबंधित गुटखा व पान मसाला की स्मगलिंग का गुजरात कनेक्शन उजागर करने के साथ ही पुणे पुलिस ने पुणे के चंदननगर से गुजरात के सिलवासा तक छापेमारी करते हुए करीबन 15 करोड़ रुपये का गुटखा बरामद किया है। इससे पुणे समेत महाराष्ट्र और गुजरात के गुटखा माफियाओं में खौफ पैदा हो गया है। हालांकि इस पूरे मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं की जा सकी है। मगर सभी फरार आरोपियों की पहचान हो चुकी है।
जल्द पुणे पुलिस के हाथ गुटखा माफियाओं के गिरेबान तक पहुंचेंगे, यह विश्वास पुलिस आयुक्त अमिताभ गुप्ता ने शुक्रवार को एक संवाददाता सम्मेलन में जताया। इस अवसर पर सह पुलिस आयुक्त डॉ. रवींद्र शिसवे व उपायुक्त बच्चन सिंह उपस्थित थे। 17 दिसंबर को पुलिस ने चंदननगर परिसर में सुरेश अग्रवाल, अक्षय सुरेश अग्रवाल, आकाश सुरेश अग्रवाल, नीरज मुकेश सिंगल, प्रवीण मुकुंद वाहुल के ठिकानों पर छापमारी करते हुए साढ़े 7  सात लाख रुपये का प्रतिबंधित गुटखा बरामद किया था। क्राइम ब्रांच यूनिट 4 इस मामले की छानबीन में जुटी थी।
क्राइम ब्रांच के पुलिस निरीक्षक रजनीश निर्मल और उनकी टीम की छानबीन के दौरान गुटखा स्मगलिंग में हवाला के जरिये पैसों का लेनदेन होने की जानकारी सामने आई। इसके बाद फरासखाना व विश्रामबाग पुलिस थानों की सीमा में एक साथ पांच जगहों पर छापेमारी की कार्रवाई करते हुए 9 आरोपियों को पकड़ कर उनके पास से चार करोड़ रुपए की नकदी बरामद की गईं। इसके बाद हडपसर और वानवडी में छापेमारी करते हुए चार आरोपियों को गिरफ्तार कर 25 लाख रुपए का गुटखा बरामद किया गया। इन आरोपियों से पूछताछ में गुटखा स्मगलिंग का गुजरात के वापी व सिल्वासा से कनेक्शन सामने आया।
इसके अनुसार क्राइम ब्रांच के सहायक पुलिस आयुक्त लक्ष्मण बोराटे के मार्गदर्शन में पुलिस निरीक्षक रजनीश निर्मल, उपनिरीक्षक जयदीप पाटील, कर्मचारी राजेश शेख, सचिन ढवले, कौस्तुभ जाधव, शीतल शिंदे की टीम ने वापी और सिलवासा में छापेमारी करते हुए 15 करोड़ रुपए का ‘गोवा’ और अन्य गुटखा ब्रांड का स्टॉक बरामद किया। हालांकि इसमें लिप्त गुटखा माफियाओं को दबोचने में पुलिस टीम नाकाम रही। ये सभी फरार हो गए हैं। हालांकि उनकी पहचान हो चुकी है, जल्द उन पर शिकंजा कसा जाएगा, ऐसा पुलिस आयुक्त अमिताभ गुप्ता ने बताया।
You might also like

Comments are closed.