12 साल बाद पकड़ा गया हत्या का आरोपी

पिंपरी : समाचार ऑनलाईन – पालकी बंदोबस्त के दौरान 12 साल से हत्या के मामले में फरार चल रहे एक शातिर बदमाश पर पिंपरी चिंचवड़ पुलिस की क्राइम ब्रांच यूनिट एक ने शिकंजा कस लिया है। उसके पास से एक देसी पिस्तौल और तीन जिंदा कारतूस भी बरामद किए गए हैं। दत्ता एकनाथ लोणकर (35, निवासी लांडेवाडी, विठ्ठलनगर झोपडपट्टी, शिवसेना चौक, भोसरी) ऐसा गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम है।

यूनिट एक के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक उत्तम तांगडे के अनुसार, आषाढी यात्रा के दौरान संत ज्ञानेश्वर महाराज पालकी के लिए पुलिस का कड़ा बंदोबस्त तैनात किया गया था। इसमें क्राइम ब्रांच की टीमें अपनी पैनी नजर रखे हुए थी। देहु फाटा में पुलिस को देखकर दत्ता लोणकर भागने लगा। उसे पकड़कर तलाशी लेने पर उसके पास से एक देसी पिस्तौल और तीन कारतूस बरामद हुए। इसके अनुसार उसे गिरफ्तार कर उसके खिलाफ भोसरी एमआईडीसी पुलिस थाने में आर्म एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया। पूछताछ में दत्ता के पुलिस रिकॉर्ड पर दर्ज एक शातिर बदमाश रहने की जानकारी सामने आयी।

भोसरी लांदेवाडी चौक में नन्दू लांडे की हत्या के मामले में दत्ता चश्मदीद गवाह था। इस हत्या का आरोप बबलू शेख पर था। अपने खिलाफ गवाही न देने को लेकर वह दत्ता को लगातार धमका रहा था।इस पर दत्ता ने अपने साथी लक्ष्मीकांत गालफाडे, संजय जाधव, अमजर बाकरा, योगेश जाधव के साथ मिलकर 2007 में बबलू शेख की हत्या कर दी। इस बारे में भोसरी पुलिस थाने में मामला दर्ज है। इसके अलावा उसके खिलाफ डकैती, मारपीट आदि के पांच मामले दर्ज हैं। हत्या के मामले में वह लगातार 12 साल तक फरार था। आखिरकार वह पुलिस के हत्थे चढ़ ही गया। इस कार्रवाई को वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक उत्तम तांगडे, उपनिरीक्षक कालूराम लांडगे, प्रमोद लांडे, सचिन उगले, महेंद्र तातले, प्रवीण पाटील, मनोजकुमार कमले, गणेश सावंत, गणेश मालुसरे, विशाल भोईर की टीम ने अंजाम दिया।

You might also like

Comments are closed.