हरियाणा ने आपूर्ति घटाई, दिल्ली में जलसंकट का खतरा

नई दिल्ली, 7 मार्च (आईएएनएस)। गर्मियों की शुरुआत के साथ दिल्ली में बड़े पैमाने पर पानी की कमी की खतरा बढ़ गया है, क्योंकि हरियाणा ने राष्ट्रीय राजधानी में कच्चे पानी की आपूर्ति कम कर दी है।

दिल्ली जल बोर्ड (डीजेबी) के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा ने ट्वीट किया, हरियाणा ने दिल्ली को कच्चे पानी की आपूर्ति कम कर दी है, जिससे संकट पैदा होगा।

चड्ढा ने आगे कहा कि इस समय हरियाणा सीएलसी नहर के माध्यम से 683 क्यूसेक के मुकाबले केवल 549.16 क्यूसेक कच्चे पानी की आपूर्ति कर रहा है, जबकि डीएसबी नहर के माध्यम से आपूर्ति 330 क्यूसेक के मुकाबले 306.63 क्यूसेक है।

उन्होंने कहा कि दो वाटर ट्रीटमेंट प्लांट (डब्ल्यूटीपी) – वजीराबाद और चंद्रावल में पानी का उत्पादन 30 फीसदी तक कम हो गया है। इसके अलावा ओखला डब्ल्यूटीपी में पानी का उत्पादन 15 फीसदी कम हो गया।

चड्ढा ने ट्वीट किया, डीजेबी हरियाणा सरकार के साथ लगातार संपर्क में है और इन मसले का हल युद्धस्तर पर करने का अनुरोध कर रहा है, लेकिन वे ध्यान नहीं दे रहे हैं।

उन्होंने इस मामले में जल शक्ति मंत्रालय के हस्तक्षेप की भी मांग की और हरियाणा सरकार से दिल्ली को पर्याप्त कच्चा पानी जारी करने का आग्रह किया।

राष्ट्रीय राजधानी पहले से ही जल संकट के खतरे में है, क्योंकि पंजाब में भाखड़ा नांगल नहर के चल रहे मरम्मत कार्य के कारण कच्चे पानी की आपूर्ति नहीं हो पाएगी।

–आईएएनएस

एसजीके

You might also like

Comments are closed.