संघ के लिए शुभ रहा नया भवन, भागवत ने यहीं किया संबोधन

 नई दिल्ली, 9 नवंबर, (आईएएनएस)| राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(आरएसएस) ने यहां झंडेवालान स्थित केशव कुंज में 12 मंजिला भवन के निमार्णाधीन होने के नाते उदासीन आश्रम में अस्थायी कार्यालय बना रखा है।

  मगर, अयोध्या पर शनिवार को जब फैसला आया तो संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत ने पुराने स्थान पर बन रहे भवन से ही देश को संबोधित करने का फैसला किया।

संघ से जुड़े एक पदाधिकारी ने आईएएनएस से कहा, “संगठन के लिए नया भवन शुभ साबित हुआ। सुप्रीम कोर्ट ने जहां चार सौ साल पुराना विवाद निपटा दिया, वहीं दशकों तक चले संघ परिवार के आंदोलन का परिणाम भी इसी भवन के बनने के दौरान आया है। ऐसे में जब अयोध्या पर आए फैसले को लेकर देश को संबोधित करने का अभूतपूर्व मौका आए तो फिर संघ प्रमुख के लिए नए भवन को चुनने से बेहतर और क्या हो सकता है।”

सूत्रों का यह भी कहना है कि दिल्ली में झंडेवालान स्थित केशव कुंज के पते से हमेशा संघ की पहचान होती रही है। ऐसे में इसी जगह निमार्णाधीन भवन में ही प्रेस कांफ्रें स करने का निर्णय हुआ।

संघ प्रमुख सरसंघचालक ने इस भवन की आधारशिला नवंबर, 2016 में रखी थी। नया भवन 3.5 लाख वर्ग फुट क्षेत्रफल में बन रहा है। इसमें कुल तीन टॉवर का ढांचा खड़ा हो गया है। पहला टॉवर 12 तल का है। संघ के इस दिल्ली वाले मुख्यालय में गाड़ियों की पार्किं ग के लिए काफी जगह होगी। भवन बनने के बाद संघ व उससे जुड़े तीन दर्जन से अधिक सहयोगी संगठनों के कार्य यहीं से संचालित होंगे।

दरअसल, पुराना कार्यालय जर्जर हो चुका था, जगह की भी कमी पड़ रही थी। जिसके बाद संघ ने कार्यकर्ताओं से चंदे के जरिए इस भवन को बनाने की तैयारी की। भवन का पूरा ढांचा फिलहाल खड़ा हो चुका है। मगर, अगले साल तक इसका पूरा निर्माण हो पाएगा। झंडेलावन के केशव कुंज स्थित इस मुख्यालय के बनने तक संघ कुछ दूरी पर स्थित उदासीन आश्रम को अस्थायी मुख्यालय बनाए हुए हैं। संघ के ज्यादातर पदाधिकारी यहीं रहते हैं।

Comments are closed.