शांति वार्ता में आई रुकावट के दौरान अफगानिस्तान में बढ़ी हिंसा

काबुल, 6 फरवरी (आईएएनएस)। दोहा में चल रही शांति वार्ता में आई रुकावट के बाद अफगानिस्तान में लड़ाई और हिंसा बढ़ गई है। इस दौरान यहां 90 से अधिक आतंकवादी और सैनिक मारे गए हैं।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, हिंसा की ताजी घटनाओं में तालिबान आतंकवादियों ने शुक्रवार को कुंडुज प्रांत के खानबाद जिले में सरकार समर्थित सेना के एक अड्डे पर हमला किया। हमले में 16 फाइटर्स मारे गए और 4 घायल हो गए। इसके अलावा 3 घंटों तक चली लड़ाई में 10 सशस्त्र विद्रोही मारे गए और 5 घायल हुए।

आतंकवादी समूह ने शुक्रवार को बदगीस प्रांत के मुगहर जिले की पुलिस चौकी पर भी हमला करके 7 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी। बदगीस के गवर्नर हसमुद्दीन शम्स ने इस घटना की पुष्टि करते हुए कहा, दोनों पक्षों के लोग हताहत हुए हैं।

रक्षा मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि सरकार समर्थित लड़ाकू विमानों ने तालिबान के जन्मस्थान कंधार प्रांत के अरगंदब, पंजवे और डांड जिलों में आतंकवादी समूह के ठिकानों पर हमला किया। इसमें सुरक्षा बलों ने 62 आतंकवादियों को मार गिराया और जबकि 23 घायल हुए।

बता दें कि 5 जनवरी को दोनों पक्षों के बीच शांति वार्ता फिर से शुरू होने के बाद पिछले 19 दिनों से दोहा में अफगान गणराज्य और तालिबान वातार्कारों के बीच कोई बैठक नहीं हुई है। यह वार्ता 12 सितंबर, 2020 से शुरू हुई लेकिन इसने अब तक बहुत कम प्रगति की है।

–आईएएनएस

एसडीजे-जेएनएस

You might also like

Comments are closed.