शरणार्थियों का टीकाकरण करने में कई बाधाएं: यूएनएचसीआर

जिनेवा, 25 जून (आईएएनएस)। संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी (यूएनएचसीआर) ने कहा कि बहुत सी बाधाएं अभी भी शरणार्थियों को कोविड के खिलाफ टीकाकरण से रोक रही हैं। 8.24 करोड़ विस्थापित व्यक्तियों में से केवल एक छोटे से हिस्से को ही अब तक डोज मिली है।

यूएनएचसीआर पब्लिक हेल्थ सेक्शन के प्रमुख एन बर्टन ने गुरुवार को कहा, दुनिया भर में हमने कोविड-19 टीकाकरण योजना में शरणार्थियों को कवर करने में एक अटूट प्रतिबद्धता देखी है। लेकिन टीकाकरण में बाधाएं बनी रहती है।

जिनेवा स्थित एजेंसी ने कई प्रकार की बाधाओं की सूचना दी, जिसमें बहुत दूर स्थित टीकाकरण केंद्र और पंजीकरण प्रणाली बहुत जटिल हैं या ऐसी भाषाएं हैं, जो शरणार्थियों द्वारा समझ में नहीं आती हैं।

कुछ देशों में टीकाकरण के लिए ऐसे पहचान दस्तावेजों की आवश्यकता होती है जो कई शरणार्थियों और शरण चाहने वालों के पास नहीं थे।

साथ ही, शरणार्थियों के लिए टीकों की लागत बहुत अधिक थी, जिससे कोविड -19 टीकों की उचित पहुंच प्रभावित हुई।

जानकारी की कमी या कुछ मामलों में गलत सूचना ने विस्थापित लोगों को टीकाकरण के लिए और भी अधिक समस्याएं पैदा कीं।

संयुक्त राष्ट्र एजेंसी ने कुछ देशों के प्रयासों को सलाम किया। खासतौर पर सर्बिया, जो सीधे शरण केंद्रों में टीके लाए और निजी आवास में रहने वाले शरणार्थियों के लिए टीकाकरण पूरा किया।

यूएनएचसीआर ने आशा व्यक्त की कि वैश्विक शरणार्थियों के 20 प्रतिशत का टीकाकरण करने के लिए और अधिक प्रयास किए जाएंगे। यह कोवैक्स सुविधा का एक उद्देश्य है, जो निम्न और मध्यम आय वाले देशों के लिए टीकों के लिए अधिक सुविधा प्रदान करने के उद्देश्य से डब्ल्यूएचओ के नेतृत्व वाली पहल है।

–आईएएनएस

एचके/आरजेएस

You might also like

Comments are closed.